जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने महात्मा गांधी एवं लालबहादुर शास्त्री जी के चित्र पर किया माल्यार्पण, कहा-गांधी जी की शिक्षा आज भी दुनिया में पूरी तरह प्रासंगिक


शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने आज 2 अक्टूबर महात्मा गांधी जी के जन्मदिवस के अवसर पर प्रातः 8 बजे कलैक्टे्रट मे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी  एवं लालबहादुर शास्त्री जी के चित्र पर माल्यार्पण व पुष्पांजलि अर्पित करने के पश्चात अधिकारियों व कलैक्ट्रेट स्टाफ केा सम्बोधित करते हुए कहा कि गांधी जी सत्य व अहिंसा के पुजारी थे, उनके द्वारा दी गई शिक्षा आज भी दुनिया मे प्रांसंगिक है। उन्होंने कहा कि गांधी जी के अहिंसावादी विचारों व आदर्शो को अपने जीवन में उतारें।



जिलाधिकारी ने कहा कि एैसे महापुरूष विश्व मे बहुत कम जन्म लेते है जो अहंकार को त्याग कर जनहित में सदैव कार्य करते हैं उनके ‘सादा जीवन उच्च विचार’ ने ही दोनों महानुभूतियों को महान बनाया है, जिनकी कथनी व करनी में कोई अन्तर नहीं था। उन्होंने कहा कि महात्मा गंाधी ने अनेकों कष्ट सहे लेकिन ब्रिटिश हुकूमत को उनका लोहा मानना पडा, गांधी जी सत्य व अहिंसा के मार्ग पर अडिग रहे और इसी राह पर चलते हुए उन्होंने विशाल राष्ट्र को अंग्रेजों से आजाद कराया। जिलाधिकारी ने कहा कि आज आवश्यकता है कि सत्य व अहिंसा एवं त्याग के सिद्वांत पर चलकर मानव की सेवा करें और गांधी जी के सिद्वांत एवं आदर्शों को मूर्त रूप देते हुए विकास पथ पर चलें। उन्होंने कहा कि लालबहादुर शास्त्री जी ने कर्तव्य पालन व कर्मठता का पाठ हमें सिखाया है। जिलाधिकारी ने कलैक्टेªट स्टाफ को सम्बोधित करते हुए कहा कि दोनों महानुभूतियों के जन्म दिवस पर हम सबको ईमानदारी से अपने कर्तव्य का पालन करने का संकल्प लेना चाहिए तथा सभी अधिकारी व कर्मचारी स्वच्छता का संकल्प ले। 



 इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वि0/रा0 आलोक कुमार, अपर जिलाधिकारी प्रशासन अमित सिंह, डिप्टी कलैक्टर अजय अम्बष्ट आदि ने भी अपने विचार रखते हुए गांधी जी व लाल बहादुर शास्त्री जी के जीवन परिचय और उनके आदर्शो व सिद्वान्तों के बार में विस्तार से बताया। उन्होने कहा कि सत्य, त्याग व अहिंसावादी विचारों पर चलकर हम भारत को विकास की ओर ले जा सकेंगे। इस अवसर पर समस्त कलैक्ट्रेट स्टाफ उपस्थित था।