विरेन्द्र सिंह रावत को मिलेगी पीएचडी की डिग्री

शि.वा.ब्यूरो, देहरादून। उत्तराखंड के नैशनल फुटबाल कोच और क्लास वन, देहरादून फुटबाल अकैडमी के संस्थापक अध्यक्ष और हेड कोच, उत्तराखंड फुटबाल रेफरी एसोसिएशन के संस्थापक सचिव, उत्तराखंड सुपर लीग के संस्थापक /टेक्निकल डायरेक्टर, उत्तराखंड आंदोलनकारी, खेलों मास्टर गेम्स फाउंडेशन इंडिया उत्तराखंड के महासचिव, सामाजिक कार्यकर्ता, विश्व सेवा परिषद उत्तराखंड अध्यक्ष, सीबीएससी सुब्रतो मुखर्जी अंतराष्ट्रीय फुटबॉल टूर्नामेंट के कॉर्डिनेटर, 7 इंटरनेशनल , 23 नैशनल और 20 स्टेट अवार्ड से सम्मानित, विरेन्द्र सिंह रावत का नाम चुना गया। विरेन्द्र सिंह रावत का नाम कॉमनवेल्थ वोकेशनल यूनिवर्सिटी किंगडम ऑफ टोंगा देश के डाक्टर केअसी मौथूहीफोनिया के द्वारा चुना गया। पूरे भारत से एक मात्र, यूनिवर्सिटी के बोर्ड मेंबर ने पूरी मॉनीटरिंग की जिसमें देखा कि विरेन्द्र सिंह रावत विगत कई बर्षों से खेल के क्षेत्र मे, देश के निमार्ण मे, समाज के उचित विकास के लिए, बेह्तरीन अनुभव के लिए, उपलब्धियों के लिए, उचित काम 22 वर्षो से कर रहे है। विरेन्द्र सिंह रावत को डॉक्टर ऑफ फिलोशिपी (पीएचडी) अवार्ड से 11 अक्तूबर 2020 को ऑनलाइन सम्मानित किया जाएगा।  

बता दें कि रावत ने फुटबाल के विकास के लिए, समाज की सेवा के लिए जीवन समर्पित कर रखा है। श्री रावत को डॉक्टरेट की उपाधि की सूचना मेल द्वारा पत्र से प्राप्त हुई है। श्री रावत ने कॉमनवेल्थ वोकेशनल यूनिवर्सिटी के सिलेक्शन कमेटी का आभार व्यक्त किया। आज हिंदी दिवस पर सभी को ढेर सारी बधाई देते हुए श्री रावत ने कहा कि हमे हमेशा अपनी मात्र भाषा हिंदी का जीवन भर उपयोग करना चाहिए।