प्रयागराज में पूर्व सांसद अतीक अहमद के अवैध कमर्शियल निर्माण पर भी चला बुल्डोजर

शि.वा.ब्यूरो, प्रयागराज। पूर्व सांसद अतीक अहमद के कमर्शियल अवैध निर्माण पर शनिवार को प्रयागराज विकास प्राधिकरण का बुल्डोजर चला। अतीक द्वारा फ्री होल्ड भूमि पर इस निर्माण को वर्ष 2006 में शुरू कराया था। हालांकि किन्ही कारणों से मामला हाईकोर्ट में चला गया था। प्राधिकरण को मानचित्र शुल्क न जमा किए जाने के कारण बाद में इसे अवैध निर्माण घोषित कर ध्वस्तीकरण आदेश पारित कर किया गया था।

 

यह निर्माण सिविल लाइंस में हाई कोर्ट हनुमान मंदिर के पास हुआ है। करोड़ों रुपये की इस अवैध संपत्ति पर पुलिस प्रशासन के नेतृत्व में पीडीए द्वारा ध्वस्तीकरण की कार्रवाई शुरू की गई है। मौजूदा स्ट्रक्चर 2 तल का है, लेकिन जिस हिसाब से पिलर तैयार किए गए हैं, उससे यह प्रतीत होता है कि 4 तल तक निर्माण कराए जाने योजना थी। हाई कोर्ट हनुमान मंदिर के पास अतीक अहमद के अवैध कामर्शियल निर्माण को जमींदोज करने के लिए पीडीए और नगर निगम की टीम पहुंची।यह वही अतीक अहमद हैं, जिनके नाम से अफसर भी कांपते थे, उनके खिलाफ अब ऐसी कार्रवाई हो रही है कि किसी में विरोध की हिम्मत नहीं दिख रही। पूर्व सांसद व माफिया अतीक अहमद, उसके भाई पूर्व विधायक अशरफ, पूर्व ब्लाक प्रमुख दिलीप मिश्रा आदि की अवैध संपत्तियों को ढूंढ ढूंढकर ध्वस्त कराया जा रहा है।


करीब दो हफ्ते से चल रही कार्रवाई में अतीक और उसके करीबी के कई कब्जे ध्वस्त कराए जा चुके हैं। करीब डेढ़ दर्जन संपत्तियों को कुर्क कर दिया गया है। ऐसे ही दिलीप मिश्रा की 12 संपत्तियों को कुर्क कर दिया गया है।उधर धूमनगंज पुलिस ने माफिया अतीक अहमद की करीबी साकेत नगर निवासी सलाउद्दीन उर्फ लाला और लखनपुर गांव के अबरार की हिस्ट्रीशीट खोल दी है। इंस्पेक्टर धूमनगंज अरुण चतुर्वेदी ने बताया कि दोनों आदतन अपराधी हैं और माफिया से जुड़े रहे हैं। दोनों के विरुद्ध कई आपराधिक मुकदमे हैं। हिस्ट्रीशीट खोलकर उनकी निगरानी शुरू कर दी गई है। जल्द ही कुछ और बदमाशों की हिस्ट्रीशीट खोली जाएगी।