एम्बेसडर सुनीता खोखर डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम राष्ट्रीय अवार्ड से अलंकृत

डॉ. शम्भू पंवार, नई दिल्ली। देश की प्रमुख सामाजिक संगठन  स्वर्ण भारत ट्रस्ट परिवार दिल्ली ने सामाजिक सरोकारों में उल्लेखनीय कार्य करने पर विश्व वाल्मीकि धर्म संगठन की संस्थापक राष्ट्रीय अध्यक्ष ग्लोबल  पीस एम्बेसडर सुनीता खोखर, भीलवाड़ा (राजस्थान)को  डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम राष्ट्रीय पुरस्कार 2020 से संम्मानित किया है।

 इस अवसर पर स्वर्ण भारत ट्रस्ट परिवार दिल्ली, महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भारत सरकार, यूनेस्को व यूनिसेफ के सयुक्त तत्वावधान में कुपोषण भारत की  संकल्पना  को लेकर विज्ञान, साहित्य, कला, चिकित्सा, समाज सेवा आदि  क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाली देश की चयनित 101 विभूतियों को यह सम्मान प्रदान किया गया। इस ऐतिहासिक पल के दुनिया के 50 देश साक्षी बने। स्वर्ण भारत ट्रस्ट परिवार के राष्ट्रीय अध्यक्ष पीयूष पंडित ने सुनीता खोकर को बधाई देते हुए कहा की आपके द्वारा किए गए कार्य उत्कृष्ट एवं सराहनीय है, हमें आप जैसे लोगों पर गर्व है। वाल्मीकि बेटी ने जहां चाह वहां राह है की कहावत को  सत्य कर दिखाया। 

उल्लेखनीय है कि सुनीता खोकर गत 20 वर्ष से सामाजिक सरोकारों में अपनी महती भूमिका अदा कर रही है। इनको 

पूर्व में भी सामाजिक सरोकारों के लिए अनेक राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय अवार्ड मिल चुके हैं। खोकर को यह अवार्ड मिलने पर विश्व वाल्मीकि धर्म संगठन व देश भर के वाल्मीकि समाज मे खुशी की लहर फैली हुवी है। गृह क्षेत्र भीलवाड़ा  में भी खुशी का आलम बना हुआ है। भीलवाड़ा वासियों द्वारा बधाई दी जा रही हैं। सुनीता खोकर ने बताया की वाल्मीकि बेटी होने पर उन्हें गर्व है, आगे भी अपनी समाज का मान बढ़ाने के लिए सामाजिक सरोकारों में मानवता और प्रेम सौहार्द के लिए कार्य करती रहेंगी।