स्वतंत्रता दिवस पर लखनऊ जीपीओ में डाक निदेशक कृष्ण कुमार यादव ने किया फ्लैग होस्टिंग








शि.वा.ब्यूरो, लखनऊ। जीपीओ में 74वें स्वतंत्रता दिवस पर लखनऊ (मुख्यालय) परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएँ कृष्ण कुमार यादव ने ध्वज फहराया। कोविड -19 से बचाव के लिए केंद्र व राज्य सरकार के दिशानिर्देशों का पूर्ण पालन करते हुए परंपरागत सादगी व हर्षोल्लास से स्वतंत्रता दिवस मनाया गया। फ्लैग होस्टिंग पश्चात डाक निदेशक कृष्ण कुमार यादव ने स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं दीं और अपने त्याग व बलिदान से देश को आजाद कराने वाले शहीदों, देशभक्त क्रांतिकारियों और महापुरुषों को नमन किया।


डाक निदेशक ने कहा कि कोरोना संक्रमण के इस दौर में डाक विभाग के अधिकारी व कर्मचारी "कोरोना वॉरियर्स" के रूप में कार्य करते हुए समाज के अंतिम छोर तक प्रतिबद्धता के साथ अपनी सेवाएं दे रहे हैं। भारत सरकार की तमाम कल्याणकारी योजनाएँ डाकघरों के माध्यम से संचालित हो रही हैं। इन्हें समाज के सभी लोगों तक पहुंचाकर हम लोगों को उनका अधिकार दिला सकते हैं और अपने कर्तव्यों की पूर्ति कर सकते हैं। यही स्वतं त्रता दिवस की असली सार्थकता होगी।श्री यादव ने कहा कि आजादी का अर्थ सिर्फ राजनैतिक आजादी नहीं अपितु यह एक विस्तृत अवधारणा है, जिसमें व्यक्ति से लेकर राष्ट्र का हित व उसकी परम्परायें छुपी हुई हैं। ऐसे में युवा पीढ़ी को राष्ट्रीय स्वाधीनता आन्दोलन के इतिहास से रूबरू कराना हमारी प्राथमिकता होनी चाहिए। भावी पीढ़ी में राष्ट्रीयता की भावना से ही राष्ट्र का विकास संभव होगा। 



डाक निदेशक ने सभी अधिकारियों व कर्मचारियों से समाज व राष्ट्र की उन्नति हेतु अपने-अपने स्तर पर योगदान देने की अपील की। उन्होंने कहा कि आजादी की शाश्वतता को बरकरार रखने के लिए  हम अपने स्तर पर छोटी-छोटी पहल करके समाज और राष्ट्र को समृद्ध बना सकते हैं। उन्होंने लोगों से वृक्षारोपण, लोगों को शिक्षित करने, पुस्तक-दान, अनाथों और वृद्धों की सहायता, बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ और स्वच्छ्ता अभियान जैसी तमाम पहल अपने स्तर पर शुरू कर देश की सुख- समृद्धि में भागीदार बने। 


जीपीओ के चीफ पोस्टमास्टर आरएन यादव ने कहा कि यह आजादी हमें दीर्घकालीन संघर्ष और लाखों लोगों के बलिदान से मिली है, अत: हमें इस आजादी की कीमत को पहचानते हुए इसे अक्षुण्ण रखना होगा। इस अवसर पर डिप्टी चीफ पोस्टमास्टर राम बिलास राम, एसआर गुप्ता, सहायक निदेशक बीएन मिश्रा, सहायक डाक अधीक्षक उमेश कुमार, एसएस श्रीवास्तव, विनय श्रीवास्तव, विनोद सिंह, आनंद कुमार सहित तमाम अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित रहे।