डाक विभाग ने कोरोना संक्रमण के दौर में आसान की बहनों की मुश्किलें, राखी भेजने हेतु वाटरप्रूफ डिजायनर लिफाफे मात्र 10 रूपये में



शि.वा.ब्यूरो, लखनऊ। कोरोना संक्रमण के बीच भाई-बहन के प्यार का प्रतीक  रक्षाबंधन पर्व 3 अगस्त को मनाया जायेगा, इसके लिए बहनों ने अभी से तैयारी शुरू कर दी है।ऐसे में बहनों द्वारा भाईयों की कलाइयों पर बँधने वाली राखी सुरक्षित रूप में  तीव्र गति से भेजी जा सकेइसके लिए डाक विभाग ने विशेष प्रबन्ध किये हैं। इस हेतु जीपीओ और प्रधान डाकघरों में विशेष  रुप से निर्मित रंगीन डिजाइनर वाटरप्रूफ राखी लिफाफों की ब्रिकी आरम्भ कर दी गई है। उक्त जानकारी लखनऊ मुख्यालय  परिक्षेत्र के निदेशक डाक सेवाएँ श्री कृष्ण कुमार यादव ने दी। 



डाक निदेशक कृष्ण कुमार यादव ने कहा कि ये डिजानइर राखी लिफाफे वाटर प्रूफ तथा सुरक्षा की दृष्टि से मजबूत हैं, जिससे बारिश के मौसम में भी बहनों द्वारा भेजी गई राखियाँ सुदूर रहने वाले भाइयों तक सुरक्षित पहुँच सकें। राखी लिफाफों को  चिपकाने हेतु इनमें विशेष स्टिकर का प्रयोग किया गया है जिससे इस हेतु गोंद की आवश्यकता नहीं होगी। 11 सेमी X 22 सेमी  आकार के इन राखी लिफाफों का मूल्य दस रुपया मात्र  है जो डाक शुल्क के अतिरिक्त है। वाटरप्रूफ लिफाफे के बाएं हिस्से के ऊपरी भाग में भारतीय डाक के लोगो के साथ अंग्रेजी में राखी लिफाफा और नीचे दाहिने तरफ 'हैप्पी राखीलिखा गया है।



 श्री यादव ने कहा  कि रंगीन और डिजाइनदार होने की वजह से इन्हें अन्य डाकों से अलग करने में समय की बचत और पर्व के  पूर्व वितरण कराने में भी सहूलियत होगी। जीपीओ के चीफ पोस्टमास्टर आरएन यादव ने बताया  जीपीओ से सभी प्रधान  डाकघरों को बिक्री लिए राखी लिफाफे भिजवाए जा रहे हैं।  जीपीओ में राखी लिफाफे खरीदने आई निहारिका गुप्ता ने कहा  कि कोविड 19 के संक्रमण दौर में दूर शहर में नौकरी करने वाले अपने भाईयों को अब इस डिजाइनर लिफाफे के माध्यम से  डाक विभाग द्वारा राखी भेजकर निश्चिन्त हो सकेंगी।