आशा-आंगनबाड़ी बता रहीं साधारण खांसी जुकाम और कोरोना के लक्षणों में फर्क (संचारी रोग नियंत्रण अभियान)

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। कोरोना काल में स्वास्थ्य महकमा जहां दिन रात एक किये हुए है, वहीं आशा-आगंनबाड़ी कार्यकर्ता भी पीछे नहीं है। जिले के सभी ब्लॉक मोरना, जानसठ, पुरकाजी, शाहपुर, खतौली, बुढ़ाना और शहर भर में घर-घर भ्रमण कर यह लोगों को कोरोना से बचाव और संचारी रोगों के प्रति जागरूक कर रही हैं। इसके साथ ही संचारी रोग नियंत्रण अभियान में स्वास्थ्य विभाग की टीम हर ब्लॉक में फॉगिंग और एंटी लार्वा का छिड़काव कर रही है। आशा-आंगनबाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर लोगों को साधारण खांसी जुकाम और कोरोना के लक्षणों में फर्क समझा रही हैं।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. प्रवीण चोपड़ा ने बताया कोरोना काल में संचारी रोग नियंत्रण अभियान के तहत लोगों को कोरोना के साथ-साथ मच्छरों से फैलने वाले रोगों के प्रति जागरूक किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग की टीम और आशा-आगंनबाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर लोगों को बता रही हैं कि बरसात के मौसम में घरों के आसपास पानी न भरने दें। पानी में ही मच्छर पनपते हैं और इनके काटने से डेंगू, मलेरिया जैसी बीमारी फैलती हैं। आशा-आंगनबाड़ी कार्यकर्ता लोगों को डेंगू- मलेरिया बुखार और कोरोना के लक्षण के अंतर के बारे में समझा रही हैं। उन्होंने कहा कि इन दिनों अक्सर लोग साधारण खांसी-जुकाम को कोरोना मान बैठते हैं और परेशान हो जाते हैं।  


मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा कि यह समय कोरोना के साथ-साथ मच्छर जनित रोगों से बचाव का भी है। इन दिनों डेंगू-मलेरिया फैलने की आशंका रहती है। डेंगू फैलाने वाला मच्छर साफ पानी में ही पनपते हैं। इसलिए पानी की टंकी,कूलर, गमलों आदि में साफ पानी एकत्र न होने दें। इन्हें सप्ताह में एक बार साफ कर अवश्य सुखा लें। दिन में पूरी आस्तीन के कपड़े पहनें और रात में मच्छरदानी का इस्तेमाल करें। तेज बुखार, आंखों के नीचे दर्द, बदन में चकत्ते होने पर तुरंत जिला अस्पताल या नजदीकी सामुदायिक केंद्र में जांच कराएं। उन्होंने लोगों से मास्क लगाने, सैनिटाइजर इस्तेमाल करने, हाथों को बार-बार साबुन-पानी से धोने और दो गज की दूरी बनाए रखने की भी अपील की है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि कोशिश करें कि अनावश्यक घर से बाहर न निकलें।


फ्लू और कोरोना के लक्षणों में फर्क

सीएमओ ने बताया फ्लू और कोरोना दोनों में बहुत बारीक फर्क है। शुरुआती लक्षण काफी-कुछ मिलते-जुलते हैं, लेकिन, पहचान करना संभव है। फ्लू में जुकाम (नाक बहना), खांसी, सिरदर्द, आंखों का लाल होना और आंखों से पानी आना मुख्‍य लक्षण हैं। वहीं, कोविड-19 (कोरोना संक्रमण) में सूखी खांसी, सांस लेने में तकलीफ और बुखार प्रमुख लक्षण हैं।