जनपद में विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना 2020 के तहत ऑनलाइन पंजीकरण शुरू, आवेदन 20 जून तक

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नें सभी परम्परागत कारीगरों के विकास और स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना 2020 के तहत ऑनलाइन पंजीकरण शुरू करा दिये है। इस विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना 2020 के तहत पारंपरिक कारीगरों व दस्तकारों को अपने हुनर को और ज्यादा निखारने के लिए 6 दिन की फ्री ट्रेनिंग दी जाएगी जिसका पूरा खर्च राज्य सरकार द्वारा उठाया जाएगा।

जिला उद्योग केंद्र के सुपरवाइजर अनिल कुमार शर्मा नें बताया कि इसके साथ ही स्थानीय दस्तकारों तथा पारंपरिक कारीगरों को छोटे उद्योग स्थापित करने के लिए टूल किट व प्रमाण पत्र भी दिए जाएंगे। इस योजना का उद्देश्य जनपद मुजफ्फरनगर और शामली के अन्तर्गत परम्परिक कारीगर जैसे बढ़ई नाई लोहार मोची सुनार हलवाई राजमिस्त्री टोकरी बुनकर कुम्हार दर्जी के आजीविका के साधनों का सुद्धढ़ीकरण करते हुए उनके जीवन को उन्नत किया जाना है योजना का लाभ प्राप्त करने हेतु

आवेदक को उत्तर प्रदेश का मूल निवासी होना चाहिये। इस योजना के अन्तर्गत ऐसे सभी आवेदक पात्र होंगे, जो जनपद मुजफ्फरनगर व शामली के स्थायी निवासी हो तथा आयु कम से कम 18 होनी चाहिये। कौशल वृद्धि के प्रशिक्षण के लिए प्रशिक्षणार्थियों का चयन शासन द्वारा गठित चयन समिति के माध्यम से किया जायेगा।

उपरोक्त योजनान्तर्गत पात्रता हेतु जाति एक मात्र आधार नही होगा लाभ प्राप्त करने हेतु ऐसे व्यक्ति भी पात्र होगे जो परम्परागत कारीगरी करने वाली जाति से भिन्न हो। ऐसे आवेदकों को परम्परागत कारीगरी से जुड़े होने के प्रमाण के रुप में ग्राम प्रधान अध्यक्ष नगर पंचायत अथवा नगर पालिका नगर निगम के सम्बन्धित वार्ड के सदस्य द्वारा निर्गत किया गया प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना अनिवार्य होगा। पात्र व्यक्ति अपना आवेदन पत्र www.diupmsme.upsdc.gov.in पर 20 जून 2020 तक ऑनलाईन कर सकते है।