अंग्रेजी चालीसा

डाॅ दशरथ मसानिया,  शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र।

 

निशदिन के अभ्यास से,बिसरी विद्या आय।

बिन अंग्रेजी ज्ञान के, कोई पूछत नाय।।

 

जय जय जय अंग्रेजी माता

तुम्हारी कीरति सब जग गाता।।1

ए से एप्पल बी से बेबी।

नई पीढ़ी ने तुमको सेवी।।2

कटबटहट सब एक समाना।

पुट का भेद हम नहीं जाना।।3

पश्चिम की तुम हो महारानी।

पूरब में भी खूब बखानी।।4

नित उठके तुम्हरे गुण गाऊं।

कंप्यूटर पर ध्यान लगाऊं।5

पांच स्वरों का रेलम पेला।।

इक्किस व्यंजन का ये मेला।।6

वरण छब्बिस का परिवारा।

ध्वनि छियालीस का है न्यारा।।7

जो कोई तुमको अपनाता।

आम जनों पर धाक जमाता।।8

इंग्लिश को भज सब संसारा।

फोनिकड्रिल का खेलहि प्यारा।।9

हिंदी से ही वोट जो पाते।

 संसद में तुमको अपनाते।।10

पेंट कोट टाई दिखलाते।

अंग्रेजी का मान बढ़ाते।।11

बैंक डॉककानून की भाषा ।

सबको पाने की अभिलाषा।।12

बंका गांव मंदिर बनवाया।

आपनि मूरत को सजवाय।।13

एक हाथ कंप्यूटर सोहे।

दूजे कर में लेखनि मोहे।।14

हाय हलो से करें आरती ।

अहम भाषा तुम्हें निहारती।।15

पिज्जा बर्गर भोग तुम्हारा।

खुशी-खुशी खावे संसारा।।16

तिहरे दम से डॉक्टर बन जाते।

इंजीनियर टीचर कहलाते ।।17

जो भी निंदा करें तुम्हारी ।

कष्ट उठाए वह बड़भारी।।18

सॉरी कहने से दुख कटते।

थैंक यू गुड बाय भी रटते।।19

शेक्सपियर ने तुमको पाया।

सारे जग में नाम कमाया।।20

कीट्स इलियट फेनी बर्नी ।

क्रिस्टी मिल्टन फ्रांसि बटर्नी।।21

डेफा शैली ग्राहम ग्रीना।

विलियम ब्लेका आइंस्टीना।।22

वर्डवर्थ अरु टामस थामस।

बेंथम मेथ्यु  लेखक फेमस।।23

ईस्ट वेस्ट नार्थ साउथ।

डायरेक्शन के है माउथ।24

सी से *स* और *क* बन जाते।

सीमेंट सर्कस में हम पाते।।25

एच लगे तब *चा* कहलाता ।

डबल स्वरों से *श* बन जाता।।26 

आय ई वाया *स* पहिचानो।

 ए यू ओ व्यंजन *का* मानो।।27

अंग्रेजी को सब जग जानी।

घर घर में है सकल बखानी।।28

फोनिकड्रिल का ध्यान जो धरते।

वे नर कभी गलती नहीं करते।।29

पार्ट ऑफ स्पीच हैं आठा।

टेंस का करो नित पाठा।।30

नाउन प्रोनाउन एडजेक्टिव।

बर्व से हो जाओ एक्टिव।।31

ऑल नेम हैं नाउन भाई।

प्रोनाउन बदले में आई।।32

ए बी सी डी रट ले भाई।

तुरत तरक्की भी हो जाई।33

रोमन लिपि में तुमको लिखते

अपटूडेट भी वे ही दिखते।।34

पांच सात चौदह को जानो।

सुंदर लेखन मंत्र है मानो।।35

मल्टी मीडिया में तुम आई।

इनवेशन की धूम मचाई।।36

नर नारी का भेद मिटाया।

धरती पर है तेरी माया।।37

मोबाइल पर छाप तुम्हारी।

ट्विटर वॉटा फेस बिचारी।।38

जो कोई अंग्रेजी चाहे।

नितअभ्यास करें मन लावे।।39

जय जय जय अंग्रेजी मैया।

पार लगाओ मेरी नैया।।40

नित नवीन इस भाष को, सदा नवाओ माथ।

अब टेकनिकल के युगा, कंप्यूटर हो साथ।।

 



आगर (मालवा) मध्य प्रदेश