1 जुलाई से संचारी रोग नियंत्रण व 16 से 31 जुलाई तक चलेगा दस्तक अभियान 


शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने आज कलैक्ट्रेट सभागार मे संचारी रोग नियंत्रण अभियान एव दस्तक अभियान के सम्बन्ध में अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होने बताया कि 01 जुलाई से 31 जुलाई तक संचारी रोग नियंत्रण अभियान एवं 16 जुलाई से 31 जुलाई तक दस्तक अभियान चलाया जायेगा। उन्होने गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी संचारी रोगो की रोकथाम के लिए प्रभावी उपाय अपनाते हुए व्यापक अभियान चलाये जाने के निर्देश दिये।
जिलाधिकारी ने कहा कि इन रोगो की रोकथाम के लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, नगर विकास विभाग, पंचायती राज विभाग/ग्राम्य विकास विभाग, पशुपालन विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, शिक्षा विभाग, चिकित्सा शिक्षा विभाग, दिव्यांगजन कल्याण विभाग/समाज कल्याण विभाग, कृषि एवं सिंचाई विभाग एवं सूचना विभाग के बीच आपसी समन्वय स्थापित करते हुए कार्यवाही करेगे। जिलाधिकारी ने कहा कि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग संचारी रोगो तथा दिमागी बुखार केसेज की निगरागी (सर्विलेस), रोगियों के उपचार की व्यवस्था, रोगियों के निशुल्क परिवहन के लिए रोगी वाहन सेवा की व्यवस्था करे। उन्होने निर्देश दिये कि नगर विकास विभाग नगरीय क्षेत्रों में वातावरणाीय तथा व्यक्तिगत स्वच्छता के उपायों, खुले में शौच न करने, शुद्ध पेयजल के प्रयोग तथा मच्छरों की रोकथाम के लिए जागरूकता अभियान संचालित किये जाये।



पंचायती राज विभाग, ग्राम्य विकास विभाग ग्राम स्तर पर साफ-सफाई, हाथ धोना, शौचालय की सफाई तथा घर से जल निकासी के लिए, शुद्ध पेयजल की व्यवस्था आदि की जाये। पशुपालन विभाग द्वारा सूकर पालकों को सूकर बाडे की साफ सफाई, कीटनाशक छिडकाव एवं मच्छररोधी जाली से ढकने के लिए प्रशिक्षित किया जाये। सभी प्रकार के पशु बाडों की स्वच्छता, कचरा निस्तारण तथा मच्छररोधी जाली के प्रयोग के लिए पशु पालकों का गहन संवेदीकरण करे। महिला एवं बाल विकास विभाग आंगनवाडी कार्यकत्रियों के द्वारा अपने क्षेत्र के समस्त कुपोषित तथा अति कुपोषित बच्चों की सूची बनाकर उनकों उचित पोषाहार उपलब्ध कराया जाये तथा आवश्यकता होने पर पोषण पुनर्वास केन्द्रो पर उपचार तथा पोषण पुनर्वास के लिए भेजा जाये। जिलाधिकारी ने शिक्षा विभाग को निर्देश दिये कि अभिभावको-शिक्षकों का व्हाट्सएप ग्रुप बनाकर दिमागी बुखार एवं अन्य संचारी रोगो से बचाव, रोकथाम एवं उपचार के लिए संवेदीकरण किया जाये।  कृषि एवं सिंचाई विभाग जमें हुए पानी में मच्छरों के प्रजनन को रोकने तथा सिंचाई के बैकल्पिक उपायों को अपनाये। सूचना विभाग द्वारा सभी स्तरों पर विभिन्न विभागों से नियमित सम्पर्क एवं समन्वय स्थापित कर विभागों द्वारा की जा रही कार्यवाही तथा गतिविधियों का व्यापक प्रचार प्रसार किया जाये।



जिलाधिकारी ने कहा कि संचारी रोगो से बचाव संबंधी वीडियो दिखायी जाये। शुद्व पेयजल ,स्वच्छता ,जनजागरूकता के माध्यम से किसी भी प्रकार की महामारी से बचा जा सकता है। जिलाधिकारी ने कहा कि संचारी रोग नियंत्रण अभियान में सभी विभागो के अधिकारियो एवं कर्मचारियो को संवेदनशील होकर कार्य के प्रति सजग रहे। जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद में दिमागी बुखार, कोविड-19 एवं अन्य संक्रामक रोगो के सम्बन्ध में व्यापक जन जागरूकता के लिए 16 जुलाई से 31 जुलाई तक दस्तक अभियान आयोजित किया जा रहा है। उन्होने कहा कि दस्तक का अथ है दरवाजा खटखटाना परन्तु जुलाई 2020 के इस अभियान में कोविड-19 रोग के संक्रमण के दृष्टिग विशेष सावधानियां अपनाते हुए सोशल डिस्टेन्सिंग का अनुपालन करे।
बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 प्रवीण चोपडा, सीएमएस, सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी व एमओआईसी उपस्थित थे।