तो नहीं खुलेंगे नोएडा-दिल्ली और गाजियाबाद-दिल्ली बॉर्डर, लॉकडाउन फाइव के दौरान भी रहेगा सील


शि.वा.ब्यूरो, गाजियाबाद/नोएडा। लॉकडाउन-5 या अनलॉक-1 एक जून से शुरू हो जाएगा। केंद्र सरकार के गृह मंत्रालय ने साफ कर दिया है कि अब एक राज्य से दूसरे राज्य में आवागमन करने के लिए कोई पाबंदी नहीं रहेगी। लोगों को पूरे देशभर में कहीं भी जाने की छूट दे दी गई है। किसी अधिकृत पास की आवश्यकता नहीं होगी। लेकिन नोएडा-दिल्ली और गाजियाबाद-दिल्ली बॉर्डर अभी भी सील रहेंगे। गाजियाबाद और नोएडा से दिल्ली के लिए आवागमन बदस्तूर प्रतिबंधित रखा जाएगा। लोगों को अधिकृत पास के जरिए ही आवागमन की इजाजत मिलेगी। करने के लिए कोई पाबंदी नहीं रहेगी। लोगों को पूरे देशभर में कहीं भी जाने की छूट दे दी गई है। किसी अधिकृत पास की आवश्यकता नहीं होगी। लेकिन नोएडा-दिल्ली और गाजियाबाद-दिल्ली बॉर्डर अभी भी सील रहेंगे। गाजियाबाद और नोएडा से दिल्ली के लिए आवागमन बदस्तूर प्रतिबंधित रखा जाएगा। लोगों को अधिकृत पास के जरिए ही आवागमन की इजाजत मिलेगी।



लॉकडाउन फाइव के लिए शनिवार को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने नए दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। इसके बाद गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी सुहास एलवाई से मीडिया ने जानकारी मांगी कि दिल्ली बॉर्डर को लेकर उनकी क्या योजना है। इस पर सुहास एलवाई ने जवाब दिया कि नोएडा-दिल्ली बॉर्डर अभी सील रहेगा। उनका तर्क है कि दिल्ली में बहुत बड़ी संख्या में कोरोनावायरस से संक्रमित लोग रोजाना सामने आ रहे हैं। दूसरी और नोएडा में केवल 105 एक्टिव केस हैं। ऐसे में अगर लोगों को निर्बाध रूप से दिल्ली आवागमन की इजाजत दे दी गई तो संक्रमण बहुत तेजी के साथ गौतमबुद्ध नगर में भी फैल सकता है। लिहाजा, दिल्ली बॉर्डर सील ही रखा जाएगा।



दरअसल, गौतमबुद्ध नगर का स्वास्थ्य विभाग डीएम को दो बार रिपोर्ट दे चुका है कि दिल्ली में व्यापक संक्रमण के कारण नोएडा और ग्रेटर नोएडा में भी संक्रमण फैल रहा है। इस रिपोर्ट के आधार पर डीएम ने लॉकडाउन फॉर में भी दिल्ली बॉर्डर को सील रखा था। लोगों की ओर से यह मांग बार-बार की गई कि बॉर्डर को खोल दिया जाए लेकिन डीएम ने लोगों की सुरक्षा का हवाला देते हुए अपील की कि जीवन रक्षा के लिए थोड़ा कष्ट सहन करने में कोई बुराई नहीं है।
जिलाधिकारी ने शासन से भी मार्ग निर्देशन मांगा। जिस पर शासन ने डीएम की राय को सही माना है। ठीक इसी तरह गाजियाबाद के जिलाधिकारी डॉ अजय शंकर पांडेय ने स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के आधार पर दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर को सील किया है। गाजियाबाद जिला प्रशासन से जानकारी मिल रही है कि वहां भी एक जून से बॉर्डर नहीं खोला जाएगा। लॉकडाउन फाइव के दौरान भी दिल्ली बॉर्डर सील रखा जाएगा।