प्रवासी मजदूरों को लेकर आज भोर में जनपद पहुंची दूसरी श्रमिक स्पेशल ट्रेन

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। जनपद में प्रवासी मजदूरों को लेकर दूसरी श्रमिक स्पेशल ट्रेन आज प्रातः भोर में पहुंची। यह ट्रेन जम्मू कश्मीर राज्य के कटरा स्टेशन से चलकर बिहार राज्य के हाजीपुर स्टेशन पर जाकर समाप्त होगी। जनपद स्टेशन पर इसका यहां 5 मिनट का ठहराव था। जहां पर जनपद के श्रमिकों को उतारा गया। इस संबंध में जिला प्रशासन द्वारा अपनी पूर्ण तैयारी कर ली गई थी। यह ट्रेन कुल 950 को लेकर चली, इसमें यूपी के 721 व बिहार के 229 हैं। स्टेशन पर कुल पंजीकृत जनपद के 27 यात्रियों में से केवल 17 ही उतरे इसके साथ ही पांच पड़ोसी जनपद बिजनौर के एक यात्री गलती से मेरठ का उतरा। इस दौरान सुरक्षा के मद्देनजर स्थानीय पुलिस के साथ ही जीआरपी व आरपीएफ भी मुस्तैद रही। सभी को बसों द्वारा उनके गंतव्य पहुंचा दिया गया।

कोविड-19 के चल रहे प्रकोप के बीच प्रवासी श्रमिकों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने की कड़ी में रेलवे द्वारा दिन-रात एक किया जा रहा है। इसी के चलते आज एक श्रमिक ट्रेन 04352 जनपद मुजफ्फरनगर में आई। इस विषय में जानकारी देते हुए मुजफ्फरनगर रेलवे स्टेशन के स्टेशन अधीक्षक विपिन कुमार त्यागी ने बताया कि यह श्रमिक स्पेशल स्पेशल ट्रेन जम्मू कश्मीर राज्य के कटरा स्टेशन से चलकर बिहार राज्य के हाजीपुर स्टेशन पर पहुंचेगी। यहां पर यह प्रातः 5:10 पर पहुंची। यहां पर इसका 5 मिनट का ठहराव है।यहाँ मुज़फ्फरनगर के कुल 27 श्रमिक उतरने थे, लेकिन 17 ही उतरे, इसके अलावा 5 बिजनोर के भी उतरे, एक मेरठ का गलती से उतरा, इस प्रकार कुल 23 उतरे। सहयोग करने में सीटीआई रोशनलाल, सहायक यातायात निरीक्षक पवन कुमार व रवि शंकर रहे। जानकारी मिलने पर प्रशासन की ओर से भी पूरी कर ली गई थी।


गौरतलब है कि यह श्रमिक ट्रेन  कुल 950 यात्रियों को लेकर चलेगी  इसमें यूपी के 721 व बिहार के 229 यात्री शामिल है। इस ट्रेन में 22 कोच थे, जिसमें 17 कोच में यूपी के व 5 कोच में बिहार के श्रमिक थे, जनपद मुजफ्फरनगर के  27 यात्री भी शामिल थे। गौरतलब है कि 21 मई को भी महाराष्ट्र राज्य के पुणे जनपद के  दौंड स्टेशन से चल कर मुजफ्फरनगर स्टेशन पर सवा 12 घंटे बाद 23 मई को प्रातः 1125 पर पहुंची थी। इस ट्रेन के यहां पर पहुंचने का समय 22 मई को रात्रि 11:10 मिनट था। इसमें पंजीकृत श्रमिकों की संख्या 1101 थी, उतारने पर 42 श्रमिक अधिक पाए गए थे, इसमें जनपद मुजफ्फरनगर के बुढाना कस्बे के एक गांव हुसैनपुर कला के एक ही परिवार के 9 सदस्य शामिल थे। सभी को मुजफ्फरनगर रोडवेज डिपो की बसों द्वारा उनके गंतव्य जनपद पहुंचा दिया गया था। व्यवस्था बनाने में स्थानीय पुलिस के अतिरिक्त जीआरपी के साथ आरपीएफ भी मुस्तैद रही। सभी को बसों के माध्यम से उनके गंतव्य की ओर प्रस्थान करा दिया गया चेकिंग के उपरांत।

जनपद मुजफ्फरनगर के पंजीकृत श्रमिक 27 इस प्रकार थे, दीपा, सोर्या, सैनीय, मोहम्मद तुसीफ, शाहरुख, मोनू, काशिब, रेहान, फ़रमान, अफ़ज़ल, सुनीत कुमार, लोबंद्र, मनोज कुमार, प्रदीप गुप्ता, Mhd.sajjad, Mhd.salman, आसिफ अली, अजय, जुल फकर, इकराम, नदीम, मोहम्मद शाहनूर, गुलज़ार, रबन, नदीम अहमद, शमीम अहमद, मुहम्मद जयबगेर। इनमें से केवल 17 ही जनपद के स्टेशन पर उतरे।