मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 प्रवीण चोपड़ा के हैल्थ टिप्स: नागरिक कोविड-19 के साथ भीषण गर्मी से भी करें अपना बचाव , की घर में रहने की अपील

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 प्रवीण चोपड़ा ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से जानकारी देते हुए बताया कि इस समय भीषण गर्मी पड रही है, जो कि आने वाले समय में और भी बढ सकती है, जिसके लिए नागरिक भीषण गर्मी और कोविड-19 से बचाव के लिए निम्नलिखित सावधानियां अपनाकर अपने को सुरक्षित करें।

       क्या करें

नागरिक घर पर रहे तथा स्थानीय मौसम और कोविड-19 के संबंध में सही जानकारी के लिए रेडियों, टीवी और समाचार पत्रों के माध्यम से शासन द्वारा समय समय पर जारी की गई जानकारियां लेते रहें।

पर्याप्त मात्रा में पानी पीयें यदि प्यास भी नही लग रही हो तो भी पानी पीते रहे, ऐसे मरीज जो ह्रदय रोग, किडनी या लिवर आदि से संबंधित बीमारियों से ग्रसित हो तथा उन्हे तरल पदार्थो की अधिक सेवन करना मना हो तो वे चिकित्सकीय परामर्श लेकर ही तरल पदार्थोे का अधिक सेवन करें।

अपने शरीर की नमी को बनायें रखने के लिए ओआरएस और घर पर बने तरल पदार्थो जैसे-लस्सी, चावल का पानी, नीबू पानी एवं छाछ आदि का प्रयोग करते रहे।

हल्के रंग के, ढीले और सूती कपडो को पहनने में प्रयोग करें।

बाहर जाने से बचें, यदि बाहर जाना आवश्यक हो तो सिर और चेहरे को सूती कपडे, टोपी, छाता आदि से ढककर निकलें, और जितना भी हो सकें घर से बाहर किसी वस्तु या सतह को न छुयें। कम से कम 1 मीटर की सामाजिक दूरी बनाकर रहें।

हाथों को लगातार थोडे-थोडे समय पर साबुन और पानी से धोते रहे और सेनीटाईजर का प्रयोग करें।

घर के सभी सदस्य अलग अलग तौलिये का प्रयोग करें और उन्हे समय से धोते भी रहे।

अन्य सावधानियां

जितना हो सके छायादार स्थानों पर रहे।

अपने घरों को ठण्डा बनाये रखे तथा धूप से बचाव के लिए पर्दे एवं सनसेड का प्रयोग करें, तथा निचली मंजिलों पर रहे जिससे तपिश से बचा जा सकें।

गर्मी से बचने के लिए पंखों का इस्तेमाल करें और ठण्डे पानी से नहाते रहें।

अगर आप अपने को बीमार महसूस कर रहे हो या आपको तेज बुखार, धडकन तेज होना, तेज सिर दर्द, चक्कर आना, जी मिचलाना, लगातार खांसी होना, स्थिति भ्रान्ति होना, सांस लेने में दिक्कत होना आदि लक्षण हो तो शीघ्र ही चिकित्सकीय परामर्श लें।

जानवरों को छाया मे रखें और उन्हे पीने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी देते रहें।

क्या ना करें

लाॅकडाउन की अवधि में घर से बाहर ना निकले, अगर जाना आवश्यक हो तो सुबह या शाम को घर से निकले, दोपहर 12 बजे से 3 बजे के बीच घर से नही निकले।

नंगे पैर, चेहरे और सिर को ढके बिना घर से नही निकले।

दोपहर में अधिक रसोई में काम ना करें, रसोई में काम करते समय खिडकियां और दरवाजे खोलकर रहें।

शराब, चाय, काॅॅॅफी, कोल्ड ड्रिक्स के सेवन से बचे, क्योकि ये हमारे शरीर की नमी को कम करते है।

मसालेदार, तैलीय और बासी भोजन का सेवन ना करें।

अपने हाथों को बिना धोयें अपनी आंख नाक और मुंह को ना छुयें।

जो लोग बीमार है, उनके सीधे सम्पर्क में आने से बचे।

अगर आप बीमार है तो घर से बाहर ना निकले, घर पर ही रहें।