M सेल्वा कुमारी जे ने उघोग, स्वंय सहायता समूह व मनरेगा के अन्तर्गत कराये जा रहे कार्यो का निरीक्षण,कहा- मानकों का पालन हो


शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने कोरोना/लाॅकडाउन के दृष्टिगत उधोगो के संचालन की दी गई अनुमति उपरान्त आज एल पी जी के खाली सिलेन्डर बनाने वाली रघुपति सिर्नजी प्रा0 लि0, जानसठ रोड का निरीक्षण किया। उन्होने वहां काम कर रहे श्रमिकों से भी बात की। उन्होने कहा कि सोशल डिस्टैंसिग का पालन कर कार्य किया जाये और मास्क व सेनेटाईजर का प्रयोग किया जाये। उन्होने कहा कि सैनेटाईजेशन की पूर्ण व्यवस्था होनी चाहिए। जिलाधिकारी ने कहा कि मानकों का पूर्ण रूप से पालन कराया जाये।



जिलाधिकारी द्वारा आज विकास खण्ड जानसठ के ग्राम सम्भलहेडा में 23 श्रमिकों द्वारा मनरेगा के अन्तर्गत 1100 मीटर लम्बें सम्भलहेडा मेन रोड पक्की सडक से रास्ते पर किये जा रहे मिट्टी के कार्य का स्थलीय निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के समय पाया गया कि उक्त स्थान पर 23 श्रमिक कार्य कर रहे थे। मनरेगा अन्तर्गत इस आपदा के समय में मांग के आधार पर नये जाॅबकार्ड बनाकर कार्य भी उपलब्ध कराया जा रहा है।



तत्पश्चात जिलाधिकारी ने विकास खण्ड जानसठ के ग्राम सम्भलहेड़ा के बालाजी स्वंय सहायता समूह द्वारा किये जा रहे कार्यो का भी निरीक्षण किया गया। निरीक्षण में पाया गया कि बालाजी स्वंय सहायता समूह 10 सदस्यों का समूह है। समूह के सदस्यों द्वारा बताया गया कि उनके द्वारा मास्क, बनाये जा रहे है। उन्होने बताया उनके समूह द्वारा 5 हजार से अधिक माॅस्क बनाये जा चुके है। जिलाधिकारी द्वारा समूहों को अधिक से अधिक कार्य करने हेतु प्रोत्साहित किया गया तथा उनके उत्पाद की ब्रिकी कराने का भी आवश्वासन दिया गया। जिससे की स्वंय सहायता समूह अर्थिक रूप से सुदृढ हो सके।
इस अवसर पर पीडी डीआरडीए जय सिंह यादव, सहित उन्य अधिकारीगण उपस्थित थे।