काम को मिलती तारीफ से खुश हैं रणवीर (शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र के वर्ष 12, अंक संख्या-29, 14 फरवरी 2016 में प्रकाशित लेख का पुनः प्रकाशन)


फिल्म दिल धड़कने दो में अपने काम की तारीफें सुन सुनकर इन दिनों फिल्म अभिनेता रणवीर सिंह काफी खुश नजर आ रहे हैं और इसका असल श्रेय वह निर्देशक जोया अख्तर को दे रहे हैं जिन्होंने एक अच्छी भूमिका के लिए उनका चयन किया। रणवीर कहते हैं कि वैसे भी मेरी जोड़ी अनुष्का के साथ खूब जमती है। वह बताते हैं कि उनकी फिल्म बाजीराव मस्तानी भी दर्शकों को बेहद पसंद आ रही है। बाजीराव मस्तानी मराठा साम्राज्य के पेशवा बाजीराव और उनकी दूसरी पत्नी मस्तानी की कहानी है। इस ऐतिहासिक रोमांस फिल्म का निर्देशन संजय लीला भंसाली कर रहे हैं। फिल्म में रणवीर सिंह के साथ दीपिका पादुकोण हैं।
रणवीर सिंह का मानना है कि एक अभिनेता अपनी छवि के दम पर नहीं अपितु अपनी बहुमुखी प्रतिभा और अभिनय क्षमता के दम पर ही बाॅलीवुड में टिका रहा सकता है। 27 वर्षीय रणवीर ने 2010 में बैंड बाजा बारात से बाूलीवुड में सफल शुरूआत की थी। इसके बाद लेडीज वर्सेज रिकी बहल में भी उन्होंने शानदार अभिनय किया। रणवीर कहते हैं कि मैं खुश हूं कि मैं अपनी पहचान बनाने में सफल रहा। मैं अच्छा अभिनय करना जारी रखना चाहता हूं। यह निरंतरता बनाए रखते हुए आगे बढ़ने और अपनी बहुमुखी प्रतिभा दिखाने का मामला है। वह कहते हैं कि मुझे लगता है कि अब छवि के दम पर बाॅलीवुड में टिके रहने का जमाना चला गया है। भारतीय सिनेमा के मौजूदा माहौल में अभिनय कैरियर की लंबाई बहुमुखी प्रतिभा और अभिनय क्षमता पर निर्भर करती है।
वह कहते हैं कि मेरे लिए अच्छी शुरूआत करना बहुत जरूरी था क्योंकि मेरा परिवार उद्योग जगत से संबंध नहीं रखता था। मेरे लिए करो या मरो की स्थिति थी। मैं अच्छी शुरूआत करने में सफल रहा। सह अभिनेत्रियों अनुष्का शर्मा, सोनाक्षी सिन्हा और दीपिका पादुकोण के साथ उनका नाम जोड़े जाने के बारे में वह कहते हैं कि मैं इस बारे में कुछ नहीं कहता। लोग इस बारे में बात करते हैं। मुझे प्रत्येक व्यक्ति में खूबसूरती नजर आती है और मैं इस बारे में अपनी भावनाएं नहीं छुपाता।
रणवीर का जन्म 6 जुलाई 1985 को मुंबई में हुआ। वह बचपन से ही अभिनेता बनना चाहते थे। लेकिन कालेज की पढ़ाई के दौरान उन्हें लगा कि यह उनके बस की बात नहीं है तो उन्होंने लेखन पर ध्यान देना शुरू कर दिया। स्नातक करते हुए वह एक बार फिर अभिनय की ओर आकर्षित हुए और उन्होंने हिन्दी फिल्मों में रोल पाने के लिए आॅडिशन देने शुरू कर दिये। 2010 में उनका भाग्य तब चमका जब वह यशराज फिल्म्स की फिल्म बैंड बाजा बारात के हीरो के रोल के लिए चुन लिये गये। यह फिल्म रोमांस और काॅमेडी से भरपूर थी। इस फिल्म में अपने शानदार अभिनय के लिए रणवीर को उस वर्ष नवोदित अभिनेता श्रेणी में फिल्मफेयर पुरस्कार भी मिला।
हालांकि रणवीर में कुछ बड़बोलापन भी नजर आता है। कुछ दिनों पहले उन्होंने मुंबई में प्रेस से बात करते हुए कहा कि मैंने कई नए कलाकारों को प्रेरित किया है और मेरी वजह से इंडस्ट्री में खासे बदलाव भी आये हैं। उन्होंने कहा कि मुझसे पहले बाॅलीवुड पर आरोप लगता था कि यहां सिर्फ फिल्मी परिवार के लोगों को मौका मिलता है पर मैंने ये धारणा तोड़ी, लेकिन यहां रणवीर यह भूल गये कि उनसे पहले भी कई गैर फिल्मी परिवारों के लोग सफल हो चुके हैं जिनमें शाहरुख खान से लेकर कई नाम शामिल हैं। अपने शौक के बारे में वह कहते हैं कि मैं अपनी फिटनेस को लेकर बहुत सतर्क रहता हूं और फिट रहने के लिए कड़ी मेहनत करता हूं। हाल ही में रणवीर तब विवादों में आए जब उन्होंने एक काॅमेडी शो एआईबी नाॅकआउट’ की एक कड़ी के दौरान एक-दूसरे और श्रोताओं के खिलाफ गाली-गलौज और अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल किया।