गंगा स्नान स्थगित होने से सूने पडे रहे शुकतीर्थ के गंगाघाट



अमजद रजा, ककरौली। कोवेड़ 19 के खतरे के चलते स्थगित किये गये गंगा स्नान के कारण जनपद के भोपा थाना क्षेत्र के मोरना के निकटवर्ती ऐतिहासिक शुकतीर्थ में गंगाघाट सूने पड़े रहे। जानकारों की मानें तो गंगा स्नान की तारीख से पहले गंगाघाट पर गंदगी का नजारा ऐसा था कि यदि कोई वहां पलभर भी गुजार ले तो भयंकर संक्रमण का शिकार हो जाये, लेकिन जिला पंचायत व प्रशासन ने घाट की सफाई करके उसे अच्छी तरह चमका दिया था, लेकिन गंगा स्नान को स्थगित किये जाने से सारी सफाई धरी की धरी रह गयी।
बता दें कि ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी को गंगा अवतरण दिवस के रूप में मनाया जाता है गंगा दशहरे पर प्रतिवर्ष बड़ी संख्या में श्रद्धालु  पतित पावनी मां गंगा में स्नान कर पुण्य लाभ प्राप्त करते हैं व दीपदान कर अन्य अनुष्ठान संपन्न कराते हैं इस वर्ष कोरोना महामारी के कारण लॉक डाउन के चलते ज्येष्ठ गंगा दशहरा मेले को स्थगित किया गया था फिर भी रविवार  दोपहर बाद हजारों श्रद्धालु शुकतीर्थ पहुंच गये थे, जिन्हें पुलिस ने वापस लौटा दिया। सोमवार को मुख्य स्नान के मौके पर पुलिस नाकेबन्दी के कारण गंगा घाट पर सन्नाटा पसर गया गंगा घाट पर बन्दर व पक्षियों ने श्रद्धालुओं की अनुपस्थिति का फायदा उठाया।