सरकारी कर्मचारी पास का उठा रहा अनैतिक लाभ, दिल्ली से उत्तराखण्ड़ तक ढ़ो रहा सवारियां


शि.वा.ब्यूरो, खतौली। कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर शासन, प्रशासन पुलिस गंभीर है। शासन द्वारा आदेश जारी किए गए है कि कोई भी सरकारी व्यक्ति बिना कारण जनपद से बाहर न जाए। अन्यथा उस पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। बावजूद इसके कोरोना वायरस से लोहा लेने वाले कुछ सरकारी विभागों कर्मचारियों को छोड़कर अन्य सरकारी विभागों के कर्मचारी अपने घर पर ही है, लेकिन कुछ सरकारी कर्मचारी ऐसे है जो अपने उच्चाधिकारी को गुमराह कर पास तो जारी करा रहे है, लेकिन उस पास का अनैतिक लाभ उठा रहे है।


अपना नाम प्रकाशित न करने की शर्त पर एक सरकारी कर्मचारी ने बताया कि उनके विभाग में कार्यरत एक क्लर्क ने अपनी उस कार का पास निर्गत करा रखा है, जो टैक्सी नम्बर पर रजिस्ट्रर्ड है। उक्त सरकारी कर्मचारी का पुत्र उस गाड़ी को दिल्ली से उत्तराखण्ड़ तक सवारियां ढ़ो रहा है। उस गाड़ी से टैक्सी नम्बर की प्लेट हटाकर उस पर सामान्य प्लेट लगाई जाती है। एक ओर जहां पुलिस, प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग की टीम संक्रमण को रोकने में लगे है, वही एक सरकारी कर्मचारी कोरोना वायरस के वजूद को समझने को तैयार नही है। यह मामला क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है।