पुलिस टीम पर हमला करने वाले पांच गिरफ्तार, जाट महासंघ ने भी की घटना की निंदा



अमजद रजा, ककरौली। थाना भोपा क्षेत्रान्तर्गत चौकी मोरना प्रभारी उपनिरीक्षक लेखराज सिंह मय हमराही पुलिस बल के ग्राम मोरना में लॉकडाउन का पालन कराने के दौरान पुलिब बल पर हमला करने के आरोपी पूर्व प्रधान नाहर सिंह एवं मार पीट व पथराव करने वाली उसकी दो पुत्रवधु तथा 02 अन्य सहित कुल 05 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया है।
ज्ञात हो कि थाना भोपा क्षेत्रान्तर्गत चौकी मोरना प्रभारी उपनिरीक्षक लेखराज सिंह मय हमराही पुलिस बल के ग्राम मोरना में लॉकडाउन का पालन कराने के दौरान मोरना के पूर्व प्रधान नाहर सिंह अपने परिवार तथा आस पास के मोहल्ले वाले 30-40 करीब लोग घर से बाहर निकल आये थे, जब लेखराज सिंह उन सभी से लॉकडाउन का पालन करने के लिए कहा तो उन्होंने पुलिस के साथ र्दुव्यवहार करते हुए धारदार हथियारों से पुलिस बल पर हमला कर दिया था। जिसमें उपनिरीक्षक लेखराज सिंह को तथा आरक्षी रवि को गंभीर चोट आई थी। आला अफसरों के निर्देश पर थाना भोपा पर दोषियों के खिलाफ धारा 147, 148, 149, 188, 269, 307, 333, 504, 506 में मुकदमा पंजीकृत किया गया था।



राष्ट्रीय जाट महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष रोहित जाखड ने एक बयान जारी करके कहा है कि भोपा मोरना में राशन बाटने के दौरान गाव करहेड़ा में पूर्व प्रधान और उसके साथियों द्वारा २४ घण्टे अपने दायित्व का निर्वाह कर रहे पुलिसकर्मियों पर हमला दुर्भाग्यपूर्ण है। ऐसे किसी भी दोषी को बक्शा नहीं जाना चाहिए। हम पूरी तरह पुलिस प्रशासन के साथ है। आज की विषम परिस्थितियों में पुलिस और स्वास्थ्य कर्मचारी किसी योद्धा से कम नहीं हैं। श्री जाखड ने कहा है कि जब पूरा देश घर में रहकर अपने आप को सुरक्षित कर रहा है ऐसे में सभी कर्मचारियों का हम दिल से आभार व्यक्त करते है  आज मेरठ के न्यूटिमा अस्पताल जाकर आरक्षी रवि कुमार और उपनिरीक्षक लेखराज का हाल जाना और हर सम्भव मदद करने का आश्वासन दिया।



वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव ने बताया कि प्रभारी निरीक्षक तितावी गुरुचरण  सिंह को कोवीड-19 के अंतर्गत लॉक डाउन के दौरान रात्रि में मुजफ्फरपुर ;बिहारद्ध से आये 01 ट्रक में सवार 16 व्यक्तियों को बिना किसी सक्षम अधिकारी को बताय व उनके नाम पते की जानकारी किये बिना छोड़ने में के मामले में अपने पदेन दायित्वों के निर्वाहन में बरती गयी लापरवाही, अनुशासनहीनता एवम स्वेचछाचारिता के आरोप में निलम्बित किया गया है। एसएसपी ने बताया कि ट्रक में आये प्रत्येक व्यक्ति को तत्काल प्रभाव से होम क्वारंटाइन व चिकित्सीय परीक्षण करवा दिया गया है। 




पुलिस सूत्रों के अनुसार जनपद में लॉकडाउन के आदेश के उपरान्त  आवश्यक कार्य के कारण व धारा-188 का उललंघन करने तथा कोरोना वायरस के सम्बन्ध में दिए गए निर्देशों का पालन न करने पर पुलिस ने 915 व्यक्तियों के विरुद्ध धारा-188 का उललंघन करने व कोरोना वायरस के सम्बन्ध में दिए गए निर्देशों का पालन न करने पर 172 अभियोग दर्ज  किये है। इसके साथ ही 5534 वाहनों का चालान  किया गया है और वाहनों से 13,55,700 रुपए शमन शुल्क वसूला है। चेकिंग के दौरान 708 वाहनों को सीज भी किया है। 
जनपद पुलिस ने अपील की है कि कृपया आप बिना किसी आवश्यक कार्य के अपने घरों से बाहर न निकलें और न ही अकारण कही बाहर घूमें, यदि आप ऐसा करते है तो आप पूरे जनपद व प्रदेश के साथ साथ देश के लोगों को भी खतरे में डाल रहे हैं।