गैरसैंण को पूर्णकालिक राजधानी बनाने के लिए धरना स्थल से माटी कलश यात्रा प्रारम्भ


शि.वा.ब्यूरो, देहरादून। गैरसैंण राजधानी निर्माण अभियान ने अपने पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार आज परेड ग्राउंड स्थित धरना स्थल जहां पर से धरना देने वाले 6  संगठनों को जबरन उठाया गया था, वहां की मिट्टी को कलश में भरकर अपना माटी कलश अभियान प्रारंभ किया। 
गैरसैण राजधानी निर्माण अभियान ने आज संघर्ष स्थल से 4 कलशों में जोरदार नारों के साथ माटी को भरकर सबसे पहले उत्तराखंड बेरोजगार संगठन के युवाओं को एकता विहार स्थित धरना स्थल पर पहुंचा। गैरसैण राजधानी निर्माण अभियान ने इस बात पर प्रशंसा जताई कि जबरदस्त विपरीत परिस्थितियों के बावजूद उत्तराखंड बेरोजगार संगठन के युवा एकता विहार के धरना स्थल पर डटे हुए हैं जबकि वहां पर धरना स्थल के चारों ओर खुले में किसी गया शौच आदि गंदगी का अंबार लगा हुआ। 



गैरसैंण राजधानी निर्माण अभियान ने बयान में लोकतंत्र के चैथे स्तंभ से इस विषय पर अनुरोध किया है कि वह यहां की परिस्थितियों का जायजा ले और जिस हालत में युवा बैठे हुए हैं। उन परिस्थितियों की ओर शासन प्रशासन का ध्यान आकृष्ट करें। गैरसैंण राजधानी निर्माण अभियान के प्रमुख रणनीतिकार मनोज ध्यानी ने बताया कि आज प्रारम्भ माटी कलश अभियान जो प्रारंभ किया गया है, उसमें आंगनवाडी कार्यकत्री संगठन की अध्यक्ष रेखा नेगी, उत्तराखंड विकलांग संघ के अध्यक्ष बृज मोहन सिंह नेगी, गैरसैण राजधानी निर्माण अभियान के युवा संयोजक मदन सिंह भंडारी. मुख्य धरना संचालनकर्ता विजय सिंह रावत, प्रमुख रणनीतिकार एवं अध्यक्ष नीति प्रभाग मनोज ध्यानी, कृष्णकांत कुनियाल, सोहन सिंह रावत आदि सम्मिलित रहे।



उन्होंने बताया कि गैरसैण राजधानी निर्माण अभियान का एक कलश को शहीद स्मारक पौधारोपण करेगा और एक कलश को स्थाई और पूर्णकालिक राजधानी गैरसैण बनाने के लिए गैरसैंण में प्रारंभ होने जा रहे संयुक्त आंदोलनकारी संगठनों के धरना स्थल पर स्थापित करेगा। गैरसैण राजधानी निर्माण अभियान की माटी कलश अभियान की योजना है कि गैरसैण में स्थाई और पूर्णकालिक राजधानी बनाने के लिए प्रारंभ किए गए संघर्ष स्थल की मिट्टी से पूरी जनता को दर्शन कराया जाए और उसके बाद पूरे उत्तराखंड भ्रमण करते हुए इस मिट्टी को गैरसैंण में स्मारक निर्माण हेतु प्रयोग किया जाएगा।



गैरसैण राजधानी निर्माण अभियान द्वारा सौंपा गया माटी कलश को लेकर बेरोजगारों के बीच पहुंचा तो वहां उत्तराखंड बेरोजगार संघ के अध्यक्ष बॉबी पवार, दोनों अनशनकारी शुभम सैनी व गोविन्द शर्मा एवम् राकेश चौहान, शिखर नौटियाल, बारू चौहान, संदीप चौहान, प्रताप चौहान, किशन चंद, पंकज चंद, चंचु मेहरा आदि लोगों ने माटी कलश को ग्रहण किया। गैरसैंण राजधानी निर्माण अभियान ने सरकार से मांग की है कि वह अविलंब धरना स्थल की स्थितियों को सुधारें अन्यथा कोरोना वायरस जैसी महामारी के समय यहां के हालात बहुत ही भयावह हो सकते हैं। गैरसैण राजधानी निर्माण अभियान ने यह भी कहा है कि गैरसैंण राजधानी निर्माण अभियान अपनी ओर से नए धरना स्थल के चारों ओर वृक्षारोपण करेगा और फलदार वृक्षों को यहां रोपित करेगा। गैरसैंण राजधानी निर्माण अभियान यह भी महसूस कर रही है कि लोकतंत्र में धरनों का एक बहुत बड़ा महत्व होता है। अतः धरनों को जिंदा रखने के लिए गैरसैण राजधानी निर्माण अभियान स्वयं भी एक धरना इकाई यहां पर स्थापित करेगा।