एसडी काॅलेज ऑफ मैेनेजमेन्ट स्ट्डीज में एमबीए के छात्र-छात्राओं के लिये पूंजी संरचना विषय पर डेम्फिएस्टा-2.0 कार्यक्रम आयोजित

शि.वा.ब्यूरो, मुज़फ्फरनगर एसडी काॅलेज ऑफ मैेनेजमेन्ट स्ट्डीज में आईक्यूएसी के तहत एमबीए विभाग के छात्र-छात्राओं के लिये पूंजी संरचना विषय पर डेम्फिएस्टा-2.0 कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें छात्र-छात्राओं को निम्न गतिविधियाॅ दी गयी, जिसमे उन्होनें बढ़-चढ़ कर प्रतिभाग किया। कार्यक्रम का शुभारम्भ काॅलेज प्राचार्य डा0 आलोक कुमार गुप्ता ने माँ सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष माल्यार्पण व द्वीप प्रवजल्लित करके किया।

डा0 आलोक कुमार गुप्ता ने बताया कि कार्यक्रम का उद्देश्य छात्र-छात्राओं को पूंजी संरचना के विभिन्न सिद्धान्तों से अवगत कराना है। उन्होंने बताया कि पूंजी संरचना से तात्पर्य है कि कोई कंपनी ऋण और इक्विटी के संयोजन के माध्यम से अपने संचालन और विकास को वित्तपोषित करने का तरीका कैसे चुनती है। उन्होंने बताया कि इक्विटी पूंजी कंपनी में स्वामित्व का प्रतिनिधित्व करती है, जो शेयरधारकों को भविष्य के मुनाफे और नकदी प्रवाह के एक हिस्से का हकदार बनाती है।

विभाग के प्रवक्ता मुकुल जैन ने छात्र-छात्राओं को पूंजी संरचना के बारे में विस्तार से समझाया। उन्होंने बताया कि किसी भी कंपनी की पूंजी संरचना को किस आधार पर तय किया जाता है। उन्होंने बताया कि पूंजी संरचना इस बात से संबंधित है कि कितना पैसा या पूंजी किसी व्यवसाय का समर्थन कर रही है, उसकी परिसंपत्तियों का वित्तपोषण कर रही है और उसके संचालन को वित्तपोषित कर रही है। उन्होंने बताया कि यह कंपनी के अधिग्रहण और पूंजीगत व्यय को भी दिखा सकता है जो व्यवसाय की अंतिम पंक्ति को प्रभावित कर सकते हैं।

कार्यक्रम के संयोजक तुषार भारद्वाज ने कहा कि आज के कार्यक्रम में मुख्यत पूंजी संरचना के सिद्धान्तों पर प्रकाश डालते हुये स्पष्ट किया कि जो किसी कंपनी के विकास के लिए पूंजी की कुल लागत में पूंजी हिस्सेदारी के मूल्य अनुपात को निर्धारित करता है। उन्होंने बताया कि हर व्यवसाय के लिए लाभदायक निवेश जुटाने के लिए पूंजी संरचना की आवश्यकता होती है और यह सुनिश्चित करती है कि उपलब्ध निधियों का प्रभावी ढंग से उपयोग किया जाए। उन्होंने बताया कि यह अधिक या कम पूंजीकरण को रोकता है। उन्होंने बताया कि कंपनी को हितधारकों को उच्च रिटर्न के रूप् में अपने मुनाफे को बढ़ाने में मदद करता है।

कार्यक्रम में छात्र-छात्राओं ने प्रोजेक्टर के माध्यम से अपने विचारो व कौशल का प्रदर्शन कर सभी को मंत्रमुग्ध किया, जिसमें मुख्यतः अनंता गर्ग, आरती, शिखा गोयल, तुषार तिवारी, खुशी, ब्राहमी, चिंकी, ईशा जंयत, तनु, प्रियांशु, आलोक, ईशा, रूहिन, ईशा सिंह आदि ने प्रतिभाग किया। मंच का संचालन छाया व सलोनी ने किया। प्रतिभागियों को उनके उत्कृष्ट प्रर्दशन के लिए प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में रितू मित्तल, डा0 विभूति अग्रवाल, पारूल कुमार, मुकुल जैन, प्रशान्त तोमर, देवेश गुप्ता, अंकुर अग्रवाल, अन्नु त्यागी, महिमा, मंगल, आदित्य कश्यप, आस्था सिंघल, तुषार भारद्वाज, अंकित कुमार, राजीव कुमार, वरूण कुमार, रश्मि कौशिक आदि सहित समस्त स्टाॅफ व छात्र-छात्रायें मुख्य रूप् से उपस्थित रहें।


Comments
Popular posts
राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय धरेच में आयोजित दश दिवसीय संस्कृत संभाषण शिविर सम्पन्न
Image
एडीएम वित्त ने मारा छापा, तहसील के क्वार्टर में सरकारी कामकाज करते पकड़ दो बाहरी व्यक्ति
Image
लेखपालों के पास कुछ प्राइवेट हेल्परों को कार्य करते हुए रंगे हाथ पकड़ा
Image
जिलाधिकारी मनीष बंसल ने किया कलेक्ट्रेट परिसर का निरीक्षण
Image
राजस्व परिषद के अध्यक्ष डॉ0 रजनीश दुबे ने किया कलैक्ट्रेट के विभिन्न पटलों, कंट्रोल रूम का निरीक्षण, राजस्व कार्यों की समीक्षा बैठक भी की, बन्दोबस्त अधिकारी चकबन्दी के पेशकार को निलम्बित करने के निर्देश
Image