बिरसा मुंडा चालीसा ( पुण्य तिथि पर विशेष)
डॉ. दशरथ मसानिया,  शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र।
बिरसा मुंडा धन्य हैं, वनवासी कल्याण।
वीर दिवाने देश के,जग करता गुणगान।।
बिरसा मुंडा एक दिवाना।
भारत को जिसने पहिचाना।।1
वन का बेटा संतो जैसा।
पर उपकारी पेड़ों जैसा।।2
स्वावलंबी धीरज धारी।
जंगल का था बड़ा खिलाड़ी।।3
पंद्रह नवंबर मास निराला।
सन अट्ठारह पचहत्तर आला।।4
मां शबरी सा श्रृद्धा वाला।
मातृभूमि का था रखवाला।।5
सीधा साधा भोला भाला।
देश द्रोह को हारन वाला।।6
भूख प्यास से जीने वाला।
तीर कमानों रखने वाला।।7
सही निशान लगाने वाला।
एकलव्य सा भक्त निराला।।8
सन संताणू थाना घेरा।
चार सैकड़ा जन का डेरा।।9
अंग्रेजी अधिकारी कांपे।
रोम रोम था भय से व्यापे।।10
जल जमीन जंगल लड़ाई।
हक रखते वनवासी भाई।।11
जय जोहार का नारा प्यारा।
छोड़ो भारत देश हमारा।।12
झूठ कपट से उन्हें बुलाया।
फिर कारागृह में डलवाया।।13
कष्ट दिये थे पीड़ादाई।
रांची जेल बड़ी दुखदाई।।14
धीमा जहर दिया खिलाई।
नौ जून को भये बिदाई।।।15
तुमसा पूत दिखा न कोई।
रांची की जनता सब रोई।।16
नौ जून उन्नीस सौ, बिरसा का बलिदान।
धन धन ऐसे पूत को कहत हैं कवि मसान।।
दरबार कोठी 23, गवलीपुरा आगर, (मालवा) मध्यप्रदेश
Comments
Popular posts
राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय धरेच में आयोजित दश दिवसीय संस्कृत संभाषण शिविर सम्पन्न
Image
एडीएम वित्त ने मारा छापा, तहसील के क्वार्टर में सरकारी कामकाज करते पकड़ दो बाहरी व्यक्ति
Image
लेखपालों के पास कुछ प्राइवेट हेल्परों को कार्य करते हुए रंगे हाथ पकड़ा
Image
जिलाधिकारी मनीष बंसल ने किया कलेक्ट्रेट परिसर का निरीक्षण
Image
राजस्व परिषद के अध्यक्ष डॉ0 रजनीश दुबे ने किया कलैक्ट्रेट के विभिन्न पटलों, कंट्रोल रूम का निरीक्षण, राजस्व कार्यों की समीक्षा बैठक भी की, बन्दोबस्त अधिकारी चकबन्दी के पेशकार को निलम्बित करने के निर्देश
Image