असम में हुई बजरंग दल कार्यकर्ता की हत्या पर रोष जताया

गौरव सिंघल, देवबंद। असम के करीमगंज जिले में हुई बजरंग दल कार्यकर्ता की हत्या से देशभर में बजरंगियों में कड़ा रोष है। देवबंद में बजरंग दल से जुड़े लोगों ने एसडीएम के माध्यम से महामहिम राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा। इसमें हिंदू संगठनों से जुड़े नेताओं की सुरक्षा सुनिश्चित कराने और हमलावरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कराए जाने की मांग की गई है। 

हाईवे स्थित डाक बंगले पर एकत्रित हुए बजरंग दल कार्यकर्ता जुलूस के रूप में उपजिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे और महामहिम राष्ट्रपति को सम्बोधित चार सूत्रीय ज्ञापन एसडीएम संजीव कुमार को सौंपा। ज्ञापन में कहा गया है कि देश में लगातार जिहादी प्रवृत्ति बढ़ रही है। पिछले दो वर्षों में विभिन्न प्रांतों में बजरंग दल के 9 कार्यकर्ताओं की निर्मम हत्या की गई है। हिंदू संगठनों से जुड़े नेताओं की हत्या के कई मामले ऐसे सामने आए हैं जिनमें आतंक फैलाने के लिए नाबालिगों को आगे किया जा रहा है, जिससे बाद में उन्हें कानूनी लाभ मिल सके। ज्ञापन में घृणा फैलाने व झूठे विक्टिम कार्ड खेलकर मुस्लिम समाज को भडक़ाने वाले नेताओं के खिलाफ सख्त कानून बनाए जाने, बजरंग दल कार्यकर्ताओं पर हमला करने वाले वयस्क और नाबालिगों को एक समान माने जाने, जेहादी विचारधारा पर अंकुश लगाने के लिए कठोर कानून बनाने और नफरत फैलाने वाले संस्थानों पर अंकुश लगाने के लिए कानून बनाए जाने की मांग की गई।