चार साल से फरार तीन लाख रूपए की ठगी करने वाला बीस हजार का इनामी चंद्रशेखर बिहार के बेगूसराय से गिरफ्तार

गौरव सिंघल, सहारनपुर। पंतजलि आयुर्वेद की फ्रेचायजी दिलाने के नाम पर सहारनपुर के मंड़ी कोतवाली क्षेत्र निवासी राहुल त्यागी से वर्ष 2018 में तीन लाख रूपए की आन लाइन ठगी करने का आरोपी 20 हजार का इनामी चंद्रशेखर पुत्र सुखदेव राम को मंड़ी पुलिस बिहार के जिला बेगूसराय के थाना नया गांव स्थित सिद्धपूर्ण विहारा लखेना से गिरफ्तार कर वहां की कोर्ट से ट्रांजिट रिमांड प्राप्त कर यहां लेकर आई। 

एसपी सिटी अभिमन्यु मांगलिक ने आज पुलिस लाइन स्थित सभागार में प्रेस वार्ता में बताया कि गिरफ्तार चंद्रशेखर ने सहारनपुर निवासी राहुल त्यागी को पंतजलि की एजेंसी दिलाने का प्रलोभन देकर आन लाइन तीन लाख रूपए ठग लिए थे। एजेंसी ना मिलने के बाद राहुल त्यागी ने मंड़ी कोतवाली में इस मामले में आईपीसी की धारा 420, 467, 471 और  66 आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने इस मामले की तफ्तीश कर पता लगाया तो आन लाइन ठगी करने के मामले में चंद्रशेखर का नाम आया। पुलिस ने चार साल तक उसकी गिरफ्तारी के प्रयास किए लेकिन वह बचता रहा। पुलिस ने चंद्रशेखर के खिलाफ सीआरपीसी के तहत 82-83 की कार्रवाई भी की लेकिन जब चंद्रशेखर पेश नहीं हुआ तो उसकी गिरफ्तारी पर 20 हजार का इनाम घोषित किया गया। एसपी सिटी अभिमन्यु मांगलिक ने बताया कि पुलिस इनामी और लंबे समय से फरार वांछित अभियुक्तों के गिरफ्तारी का अभियान चलाए हुए है उसी अभियान के तहत चंद्रशेखर की गिरफ्तारी हुई है जो तीन लाख रूपए की रकम उसने ठगी थी वह उसे निपटा चुका है। उसके पास से कोई पैसा बरामद नहीं हुआ है। 

एसपी सिटी ने बताया कि 10 दिनों के दौरान 18 इनामी अभियुक्त गिरफ्तार कर जेल भेजे गए हैं। 55 इनामी अभी भी पुलिस की पकड़ से दूर हैं जिनकी गिरफ्तारी को पुलिस की टीमें लगाई गई हैं। दिलचस्प यह है कि इस अभियान के तहत एक अभियुक्त ऐसा भी गिरफ्तार किया गया जो 20 साल से फरार था। तीन अभियुक्त ऐसे भी रहे जिन्होंने अदालत में खुद आत्मसमर्पण किया।