सात दिवसीय भागवत कथा शुरू
गौरव सिंघल, देवबंद। शशिनगर में सात दिवसीय भागवत कथा का शुभारम्भ सभासद गजराज राणा सदस्य जिला कार्यसमिति भाजपा, जनेश्वर सैनी पूर्व नगर अध्यक्ष ने फीता काटकर किया। भागवत कथा का शुभारम्भ करने के उपरान्त गजराज राणा व जनेश्वर सैनी ने कहा कि संसार में जन्म लेने वाला हर व्यक्ति दुःख निवृत्ति के लिए प्रयासशील रहता है किंतु उसे पूर्ण रूप से ज्ञान नहीं होता की दुःख किस वस्तु का नाम है, उसका वास्तविक स्वरूप क्या है। विवेकशील पुरुष के लिए जन्म से लेकर मृत्यु पर्यन्त तक सभी क्रिया कलाप दुःख रूप ही है। हम जिन विषयों को अपने सुख के लिए स्वीकार करते है वही विषय उनके वियोग होने पर दुःख का कारण बन जाते है और मनुष्य पुरे जीवन इस दुख में डूबा रहता है। भागवत सुनने से सभी दुखों से छुटकारा मिलता है तथा मोक्ष प्राप्त होता है। 
इससे पूर्व कथा व्यास रविन्द्राचार्य लाला जी महाराज के नेतृत्व में पीले वस्त्र धारण कर महिला श्रद्धालुओं द्वारा कलश यात्रा निकालकर कलश स्थापित किये गये। इस दौरान बिजेन्द्र गुप्ता नगर महामंत्री, सभासद दीपक त्यागी, प्रवीन गोयल द्वारा विधिवत दीप प्रवज्ल्लित कर पूजा-अर्चना और व्यास पीठ की परिक्रमा उपरान्त कथा व्यास लाला जी महाराज जी को व्यास पीठ पर विराजमान कराया गया तथा राजकुमारी, रीना, मीनाक्षी, रीतू, रक्षा, केशो देवी द्वारा व्यास पीठ के समक्ष आरती की गई। व्यासपीठ पर विराजमान होने के उपरान्त कथा व्यास लाला जी महाराज ने सभी को तिलक अक्षत कर आर्शीवाद दिया। 
भागवत कथा समिति के रवि चौधरी, रोशन, गजे चौधरी, मीटू, अनुप सिंह, पप्पन, योगेश, मुकेश चौधरी द्वारा अतिथियो को पटका पहनाकर और तिलक कर स्वागत किया गया। इस दौरान भारी संख्या में महिला व पुरूष श्रदालु उपस्थित रहे।