उच्च शिक्षा विभाग की राज्य मंत्री रजनी तिवारी ने की विभागीय समीक्षा बैठक

गौरव सिंघल, सहारनपुर। उच्च शिक्षा विभाग की राज्य मंत्री रजनी तिवारी ने जनपद में भ्रमण कार्यक्रम के दौरान सर्किट हाउस सभागार में विभागीय समीक्षा बैठक की। इस अवसर पर उन्होंने राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020, गुणवत्ता के दृष्टिगत नैक मूल्यांकन, विश्वविद्यालय में छात्रों का नामांकन एवं अन्य शैक्षिक समस्याओं की बिन्दुवार समीक्षा की। राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के तहत सभी प्राचार्यों से जानकारी प्राप्त की। प्राचार्यों द्वारा उच्च शिक्षा विभाग की राज्य मंत्री को अवगत कराया गया कि इस नीति के तहत संकाय के विषयों को लेने की स्वतंत्रता छात्रों को प्रदान की गयी है इसलिए शिक्षण हेतु कक्षों की कमी आ रही है। 

इस अवसर पर उन्होंने कहा कि इसके लिए शासन को प्रस्ताव बनाकर भेजा जाएं, व्यवस्था होने तक कालेजों को दो शिफ्टों में परिवर्तित किया जाएं। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय शैक्षिक नीति-2020 सरकार का शैक्षिक गुणवत्ता सुधार हेतु महत्वपूर्ण कदम है। श्रीमती रजनी तिवारी ने नैक के दृष्टिगत सभी प्राचार्यों को यथाशीघ्र अच्छी ग्रेडिंग के साथ नैक करवाने के निर्देश दिए। जिन्होंने नैक करवा लिया है वह अपनी ग्रेडिंग और बेहतर करें। तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों की कमी का संज्ञान लेते हुए उन्होंने कहा कि संबंधित महाविद्यालय शासन को उक्त के संबंध में एक प्रस्ताव बनाकर भेजें। इस पर शीघ्र कार्यवाही की जायेगी। 

उन्होंने शिक्षा की गुणवत्ता को बनाए रखने तथा शैक्षिक कक्षाओं को नियमित तौर पर संचालित करने के साथ ही विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालयों में नामांकन बढाने के निर्देश दिए। समीक्षा बैठक में कुलपति माँ शाकुम्भरी विश्वविद्यालय हृदय शंकर सिंह, जिलाध्यक्ष भाजपा महेन्द्र सैनी, राजकीय, अशासकीय, सहायता प्राप्त महाविद्यालयों के प्राचार्यगण, सहायक रजिस्ट्रार आर0कमल सहित विभागीय अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।