रेलवे में अब नहीं होंगे गार्ड

शि.वा.ब्यूरो, नई दिल्ली। रेलवे ने अपने कर्मचारियों की सालों पुरानी मांग पूरी करते हुए रेल गार्ड का पदनाम बदल दिया है। ट्रेन में तैनात रहने वाले गार्ड अब ट्रेन मैनेजर कहलाएंगे रेलवे बोर्ड की तरफ से इस बाबत सभी रेलवे के जनरल मैनेजर्स को पत्र भी जारी क‍िया जा चुका है

बता दें कि पिछले कई सालों से रेलवे कर्मचारी यून‍ियन की तरफ से इस बदलाव की मांग की जा रही थी। रेलवे की तरफ से ये फैसला तत्काल प्रभाव से लागू किया जा चुका है। भारतीय रेलवे सार्वजन‍िक रूप से अपने ऑफ‍िश‍ियल अकाउंट पर भी इसकी घोषणा कर चुका है। कर्मचारियों की तरफ से साल 2004 से ही गार्ड का पदनाम बदलने की मांग की जा रही थी। कर्मचारियों का कहना था कि गार्ड का काम सिर्फ सिग्नल के लिए झंडी और टार्च दिखाना नहीं है, इसलिए इसका पदनाम बदल देना चाहिए। रेलवे ने केवल गार्ड का पदनाम बदला है, पहले जैसी ही उनकी जिम्मेदारियां रहेंगी। ट्रेनों में यात्रियों की जरूरतों को पूरा करने के साथ ही पार्सल सामग्री का निष्पादन, यात्रियों की सुरक्षा और ट्रेन की देख-रेख भी रेलवे गार्ड के जिम्मे आता है, ऐसे में पदनाम बदलने की मांग को रेलवे ने भी वाजिब माना है।