एसडी काॅलेज ऑफ काॅमर्स में चल रहे शिक्षक पर्व के तहत व्याख्यान व पठन उपक्रम अयोजित

 

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। एसडी काॅलेज फ काॅमर्स में चल रहे शिक्षक पर्व 2022 के मौके पर महाविद्यालय के आन्तरिक गुणवत्ता प्रमाणन प्रकोष्ठ (आईक्यूएसी) द्वारा व्याख्यान एवं पठन उपक्रम का आयोजन किया गया, जिसका शुभारम्भ बतौर विशिष्ठ अतिथि एवं मुख्य वक्ता एसडी काॅलेज फ मैनेजमेंट स्टडीज के प्राचार्य डा0 संदीप मित्तल, प्राचार्य डा0 सचिन गोयल, डा0 सौरभ जैन,एकता मित्तल, डा0 रवि अग्रवाल, नीतू गुप्ता ने संयुक्त रूप से ज्ञान की देवी मां सरस्वती के चित्र के सम्मुख दीप प्रज्जवलित करके किया। कार्यक्रम में महाविद्यालय के सभी शिक्षक व कर्मचारी उपस्थित रहे।

प्राचार्य डा0 सचिन गोयल ने बताया कि नवाचार में समस्याओं को देखने और उन्हें हल करने का एक अलग तरीका शामिल है। उन्होंने कहा कि यह भी शिक्षा की समग्र गुणवत्ता में सुधार करने में योगदान देता है, क्योंकि यह छात्रों को सोचने के लिए उत्प्रेरित करता है। उन्होंने कहा कि यह काबिलेतारीफ है कि भारत आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स रिपोर्ट 2020 के अनुसार 131 देशों के बीच भारत को 48वें सबसे नवीन राष्ट्र के रूप में स्थान दिया गया है।

मुख्य वक्ता डा0 संदीप मित्तल ने कहा कि नई शिक्षा नीति के लिए एक अनुकूल और सक्षम वातावरण बनाना, शिक्षण और परीक्षण की पारंपरिक पद्धति को समय के अनुसार बदलने की आवश्यकता हैं। उन्होंने कहा कि शुरूआत से ही विभिन्न संयोजन विषयों, बुनियादी बातों से आगे बढ़ते हुए, छात्रों को पाठ्यक्रम से बाहर जाकर तकनीकि परिक्षण देना नवाचार की दिशा में एक नया और अलग परिणाम विकसित करेगा। उन्होंने कहा कि शिक्षको को नवीन शिक्षण पद्धतियों का उपयोग करके छात्रों को प्रेरित करना होगा। कि वह तब तक खोजबीन करते रहे, जब तक उन्हें समस्या का समाधान एवं सर्वोत्तम उत्तर न मिलें।

कार्यक्रम में पठन उपक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें सभी शिक्षकों ने सामूहिक रूप से ईशान शर्मा द्वारा लिखित पुस्तक The Teacher I never Met का पाठन किया। इस अवसर पर आईक्यूएसी प्रकोष्ठ के समन्वयक डा0 सौरभ जैन ने धन्यवाद ज्ञापित किया।