शिक्षक दिवस पर शिक्षक सम्मान समारोह आयोजित, शिक्षकों को सम्मानित किया

शि.वा.ब्यूरो, मुज़फ्फरनगर माध्यमिक शिक्षा विभाग द्वारा लाला जगदीश प्रसाद सरस्वती विद्या मंदिर इण्टर कॉलेज में शिक्षक सम्मान समारोह मनाया गया, जिसका शुभारम्भ जिला विद्यालय निरीक्षक गजेन्द्र कुमार,  प्रधानाचार्य शैलेन्द्र त्यागी, प्रधानाचार्य डॉ विकास कुमार व हरिओम सहस्त्र बुद्धे द्वारा संयुक्त रूप से माँ सरस्वती के सम्मुख दीप प्रजव्ल्लित करके किया गया। 

जिला विद्यालय  निरीक्षक ने जिले के समस्त शिक्षकों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आज आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्वांटम कम्प्यूटिंग आदि के युग में शिक्षकों की भूमिका और भी अधिक महत्वपूर्ण हो गई है। उन्होंने कहा कि आज तकनीक हमारी शिक्षा व्यवस्था को बहुत अधिक प्रभावित कर रही है। उन्होंने कहा कि आज हमें आवश्यकता है कि शिक्षक वर्ग चिंतन करें कि आज के तकनीकी युग में नया शिक्षक कैसा हो, जिससे वह इन्टरनेट युग में पैदा हुए बालकों के साथ तालमेल बैठा सकें। 

उन्होंने कहा कि एक और महत्वपूर्ण प्रश्न आज उत्पन्न हो रहा है कि यदि हम सिर्फ परंपरागत शिक्षण पर ही निर्भर रहेंगे, तब क्या आज की पीढ़ी को दिशा दे पाएंगे। उन्होंने कहा कि शिक्षा तकनीकयुक्त होने के साथ साथ संस्कारयुक्त भी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि शिक्षक को प्रयास करना चाहिए कि उनके आस पास के क्षेत्र में गरीब से गरीब व वंचित वर्ग तक शिक्षा पहुँचें तब ही उनका शिक्षक बनना सार्थक होगा। 

राज्य व राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार प्राप्त प्रधानाचार्य डॉ. विकास कुमार ने कहा कि यदि शिक्षक अपने आपको टेक्नोलॉजी से नही जोडेंगे, तब उनके और विद्याथियों के बीच डिजिटल अंतर ज्यादा होता जाएगा। उन्होंने कहा कि कुछ समय बाद उस अंतर को कम करना आसान न होगा। प्रधानाचार्य शैलेन्द्र त्यागी, बृजेश कुमार, हरिओम सहस्त्र बुद्धे, डॉ. कंचन प्रभा शुक्ला आदि ने भी डॉ. राधाकृष्णन के जीवन पर प्रकाश डाला। 

जिला विद्यालय निरीक्षक ने जिले के चार सुपर नॉडल अधिकारी ब्रिजेश कुमार, डॉ. विकास कुमार, ललित मोहन गुप्ता, विनय यादव व  नॉडल अधिकारी डॉ. रणबीर सिंह, सुधीर त्यागी, सोहन पाल, नीरज शर्मा,  संदीप कुमार कौशिक आदि को शिक्षा क्षेत्र में सराहनीय कार्यों हेतु सम्मानित किया गया। 

शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान देने हेतु जिले के दस प्रधानाचार्य विजय कुमार शर्मा,  डॉ. प्रवेन्द्र दहिया, उमा रानी, डॉ. रविन्द्र कुमार, अनिल शास्त्री, डॉ. राजेश कुमारी, दिनेश कुमार, अनुराधा पंवार, आशीष दिवेदी, आदित्य प्रकाश सक्सेना आदि को सम्मानित किया गया। 

सतेन्द्र कुमार, डॉ. अनिल सैनी, सुचित्रा सैनी, डॉ. चन्द्रमोहन शर्मा, विपिन त्यागी, राजबल, मीनाक्षी आर्य, आकाश भरद्वाज, सचिन कुमार, मदन गोपाल, किरण देवी, ओमेश्वर कुमार, दीपा, सोनी, मनोज कुमार सिंह, राजकमल वर्मा, संजीव जावला, सोनिया शर्मा, आकाश कुमार, उमाकांत, कपिल, जावेद आलम, स्नेहलता मिश्रा आदि शिक्षक-शिक्षिकाओं को प्रशस्ती पत्र व शाल ओढाकर जिला विद्यालय निरीक्षक द्वारा सम्मानित किया गया। 

कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला विद्यालय निरीक्षक गजेन्द्र कुमार व संचालन प्रधानाचार्य डॉ. विकास कुमार ने किया। डॉ. कंचन प्रभा शुक्ला, डॉ. वशिष्ठ भारद्वाज, राजेन्द्र कुमार निर्णायक मंडल में रहे। प्रधानाचार्य हरिओम गणपति सहस्त्र बुद्धे, सुनील शर्मा, अभिषेक गर्ग आदि का कार्यक्रम में सराहनीय योगदान रहा।