सम्पूर्ण समाधान दिवस में 06 मौके पर ही निस्तारित, डीएम ने शिकायतकर्ताओं से फोन पर लिया फीडबैक

गौरव सिंघल, सहारनपुर। सम्पूर्ण समाधान दिवस पर तहसील रामपुर मनिहारान में प्राप्त कुल 44 शिकायतों मे से 06 शिकायतों का मौके पर ही निस्तारण कर दिया गया। जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने निर्देश दिये कि सम्पूर्ण समाधान दिवस में प्राप्त शिकायतों का समयबद्ध एवं गुणवत्तापूर्ण तरीके से निस्तारण किया जाए। उन्होंने कहा कि जन सामान्य की शिकायतों का निस्तारण यथाशीघ्र करना मुख्यमंत्री की सर्वोच्च प्राथमिकता है, इसलिए इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। 

जिलाधिकारी ने कहा कि शिकायतकर्ता को अनावश्यक परेशान करने वाले कर्मियों के विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जायेगी। शिकायतों के निस्तारण में लापरवाही क्षम्य नहीं होगी। उन्होंने कहा कि राजस्व वादों पर समय से कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कहा कि सभी उच्चाधिकारी निस्तारित शिकायतों का शिकायतकर्ता से फीडबैक लेकर पंजिका में अंकित किया जाए। उन्होने निर्देश दिए कि सरकारी जमीनों को अवैध कब्जाधारियों से मुक्त कराना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि जनपद में कहीं पर भी अतिक्रमण की स्थिति न हो। उन्होने रजिस्टर में अंकित शिकायतों का फोन करके शिकायतकर्ताओं से फीड बैक लिया। 

डीएम अखिलेश सिंह आज सम्पूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर तहसील रामपुर मनिहारान में शिकायतकर्ताओं की समस्याओं को सुनने के बाद अधिकारियों को यह निर्देश दिए। उन्होने कहा कि सम्पूर्ण समाधान दिवस पर भूमि सम्बंधी विवादों के निस्तारण के लिए राजस्व और पुलिस विभाग की संयुक्त टीम गठित कर शिकायत का निस्तारण कराया जाए। उन्होंने कहा कि गम्भीर प्रकृति की शिकायतों के निस्तारण के लिए अलग से जांच दल गठित किये जायेंगे। जिलाधिकारी ने सरकार द्वारा चलायी जाने वाली जनकल्याणकारी योजनाओं के लाभ से प्रत्येक पात्र को लाभान्वित कराया जाना सुनिश्चित किया जाए तथा इसका लाभ समाज के अंतिम पंक्ति पर खडे व्यक्ति तक पंहुचाना सुनिश्चित करें। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा. विपिन ताडा ने संबंधित पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए कि आने वाली शिकायतों का निस्तारण गुणवत्तापूर्ण ढंग से किया जाए। 

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी विजय कुमार, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 संजीव मांगलिक, उप जिलाधिकारी, संगीता राघव तथा संबंधित विभागों के अधिकारी मुख्य रूप से उपस्थित रहे।