लम्पी डिजीज के दृष्टिगत डीएम व सीडीओ ने किया गोवंश आश्रय स्थल का निरीक्षण, आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिये

शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। जिलाधिकारी चंद्र भूषण सिंह व मुख्य विकास अधिकारी संदीप भागिया ने सोमवार को अस्थायी गोवंश आश्रय स्थल रामपुर विकास खण्ड सदर का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कुल 86 गाय एवं बछडे मौजूद थे, इनमें 01 गाय लम्पी स्किन डिजीज से पीडित पायी गई एवं 02 बछडे बीमार थे, जिनका उपचार किया जा रहा है।

जिलाधिकारी ने कहा कि गौशाला में साफ-सफाई की व्यवस्था रहनी चाहिये। उन्होंने गोवंशों की उचित देखभाल के निर्देश दिये। निरीक्षण के दौरान हरा चारा पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध पाया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि लम्पी डिजीज के दृष्टिगत गोवंश आश्रय स्थल में स्वच्छता, साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाये तथा पशुओं में फैलने वाली लम्पी नामक संक्रामक बीमारी से बचाव हेतु समस्त उपचार किये जायें। उन्होंने कहा कि गोवंशों के खान-पान हेतु उचित प्रबन्ध किये जाये तथा दैनिक सत्यापन/निरीक्षण कर आवश्यक चिकित्सा सुविधा मुहैया कराई जाये।
जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद को 1.5 लाख वैक्सीन प्राप्त हो गई है, जिन्हे ब्लॉक वार वितरण कर लम्पी स्किन से ठीक हो चुके एवं अन्य पशुओ को लगाई जायेगी। उन्होने कहा कि पशुओ की निरन्तर जांच की जाये तथा बीमार पशु को स्वस्थ पशुओ से अलग रखा जाये, जिनसे उनका बचाव किया जा सके। उन्होंने कहा कि जनपद में एन्टीबायोटिक दवाइयो की प्रचुर मात्रा उपलब्ध हो, इसलिये जिस भी क्षेत्र में आवश्यकता हो तत्काल राहत कार्य एवं टीम भेजी जाये। उन्होंने कहा कि गौशालाओ में मक्खी-मच्छरो से बचाव के लिये फिनाइल/फिटकरी एवं साइपरमेथ्रिन दवा का पशु बाडो में छिडकाव निरन्तर किया जाये। निरीक्षण के दौरान गौशाला में पशुओ का टीकाकरण भी कराया गया।