जन कल्याण मंच ने नगर की समस्याओं का समाधान न होने पर दी आंदोलन की चेतावनी

गौरव सिंघल, देवबंद। सामाजिक संगठन उत्तर प्रदेश जन कल्याण मंच की एक बैठक डाक बंगले पर हुई। जिसमें नगर की समस्याओं को लेकर चिंता व्यक्त की गई और बार-बार शिकायत के बावजूद नगर की समस्याओं का समाधान न होने पर आंदोलन की चेतावनी दी गई।

इस दौरान चौधरी ओमपाल सिंह ने कहा देवबंद ऐतिहासिक नगर है पर सुविधाओं के नाम पर पिछड़े व दूरदराज गांव से भी बदतर है, नगर की अधिकतर सड़कें टूटी पड़ी है, नगर में बारिश के पानी से सड़क तालाब बन जाती हैं, देवी बाला सुंदरी मेला ग्राउंड गंदगी व अतिक्रमण की चपेट में है, ई रिक्शा और अतिक्रमण से बाजार में आम आदमी का आना मुश्किल हो गया है। उन्होंने कहा कि बिजली के जर्जर तार, लो वोल्टेज, बार-बार कट लगने से लोग परेशानहाल है, फ्लाईओवर के नीचे अतिक्रमण का तो यह हाल है शहर भर के ट्रक, कारे एवं अन्य वाहन सड़क पर पार्किंग कि तरह खड़े रहते हैं, बिक्री के लिए रेत, बजरी और अन्य सामान सड़क पर पड़ा रहता है, इसलिए दुर्घटनाओं में कितने ही लोग की जान जा चुकी हैं लेकिन विभागों के अधिकारी काम नहीं कर रहे हैं, कितनी ही शिकायत करने के बाद अधिकारी सिर्फ लीपापोती करते हैं ज्यादा से ज्यादा नगर पालिका दिखावे के लिए जेबीसी लेकर रोड पर  निकल जाते हैं लेकिन अतिक्रमण जस का तस है। 
बैठक में निर्णय लिया गया के जनता की समस्याओं के लिए जल्द आंदोलन किया जाएगा। बैठक की अध्यक्षता रामकला सैनी ने और संचालन मास्टर हनीफ ने किया। इस दौरान गुलशन पुडीर, विरम सिंह, हारिस मलिक, श्रीमती रेखा, स्नेह टंडन, सुरेंद्र, डॉ. रविंद्र, विजय बजाज, राजपाल, सुशील जाटव, वाजिद अली और अंग्रेश पंवार आदि मौजूद रहे।