लम्पी स्किन डिजीज के उपचार के लिए जनपद में पर्याप्त मात्रा में दवा उपलब्ध

गौरव सिंघल, सहारनपुर। जिलाधिकारी अखिलेश सिंह के निर्देशों के अनुपालन में लम्पी स्किन डिजीज की रोकथाम के सम्बन्ध में पशुपालन विभाग की टीमों द्वारा जनपद के ग्रामों में भ्रमण कर पशुपालकों को आवश्यक जानकारी दी गई तथा प्रभावित पशुओं का उपचार किया गया। उन्होंने बताया कि उपचार के लिए दवाओं की पर्याप्त मात्रा क्रय कर ली गयी है, जो जनपद सैन्ट्रल स्टोर पर प्राप्त हो गई है। 

मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ0 राजीव सक्सेना ने बताया कि सैन्ट्रल स्टोर से प्रभावित क्षेत्रों में युद्ध स्तर पर दवाई उपलब्ध कराई जा रही है। इसके लिए विभाग के पास जनपद के प्रत्येक ब्लाक में बहुउद्देशीय सचल वाहन उपलब्ध है, जिनके माध्यम से त्वरित गति से प्रभावित क्षेत्रों में आवश्यक दवायें पंहुचाई जा रही है। उन्होंने बताया कि वर्तमान तक जनपद सहारनपुर में 2215 गोवंश संक्रमित पाये गये जिसमें से 1550 पशु ठीक हो चुके है। उन्होंने बताया कि लम्पी बीमारी से वर्तमान तक 28 पशुओं के मृत्यु हुई। उन्होंने बताया कि जनपद के विभिन्न क्षेत्रों से पशुचिकित्साविदों की टीमों द्वारा सैम्पल एकत्रित कर आईवीआरआई बरेली एवं राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा पशुरोग संस्थान, भोपाल भेजें जा रहे है। 

उन्होंने बताया कि उक्त बीमारी के सम्बन्ध में सूचना आदान-प्रदान के लिए जनपद स्तर पर कन्ट्रोल रूम नम्बर- 0132-2723145, 0132-2723146 स्थापित हो गया है, जो प्रातः 08ः00 बजे से रात्रि 08ः00 बजे तक संचालित रहता है। उन्होंने बताया कि कन्ट्रोल रूम में वर्तमान तक 92 कॉल का निस्तारण संबंधित द्वारा कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि लम्पी बीमारी की रोकथाम हेतु सभी आवश्यक कदम पशुपालन विभाग द्वारा उठाये जा रहे है।