माध्यमिक शिक्षा विभाग के तत्वाधान में इंस्पायर अवार्ड योजना के लिए एक दिवसीय कार्यशाला आयोजित 
शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। लाला जगदीश प्रसाद इण्टर कॉलेज में माध्यमिक शिक्षा विभाग द्वारा एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। विज्ञान शिक्षक कार्यशाला का शुभारंभ जिला विद्यालय निरीक्षक मुज़फ्फरनगर गजेन्द्र कुमार, प्रधानाचार्य डॉ. विकास कुमार व प्रधानाचार्य हरि ओम गणपति सहस्रबुद्धे द्वारा माँ सरस्वती के सम्मुख दीप प्रज्वलित करके किया गया।
कार्यशाला का शुभारंभ करते हुए जिला विद्यालय निरीक्षक ने कहा कि ज्ञान किसी की बपौती नही है, यदि विज्ञान व तकनीकी के क्षेत्र में आपके पास कोई नवाचारी व क्रिएटिव आईडिया है, तब आप इंस्पायर अवार्ड मानक योजना में आवेदन कर सकते है ,विद्याथि्र्यों के लिए यह एक बहुत अच्छा अवसर है, जहाँ विद्यार्थी दैनिक जीवन मे आने वाली समस्याओं को सरल बनाने के लिए प्रोजेक्ट या मॉडल बनाते है, साथ ही साथ उनको नगद धनराशि व राष्ट्रीय स्तर पर सम्मान प्राप्त करने का स्वर्णिम अवसर प्राप्त होता है। उन्होंने कहा कि इंस्पायर अवार्ड योजना का मुख्य उद्देश्य 10 वर्ष से 15 वर्ष तक के बालकों को नवाचारी बनाना है।
कार्यक्रम नॉडल अधिकारी डॉ. विकास कुमार के द्वारा उपस्थित विज्ञान शिक्षकों को विज्ञान मॉडल व प्रोजेक्ट बनाने का प्रशिक्षण दिया गया। डॉ. विकास कुमार ने इंस्पायर अवार्ड मानक योजना के बारे में विस्तृत चर्चा करते हुए बताया कि इस योजना में सभी सरकारी, अर्द्ध सरकारी, वित्तविहीन, सीबीएसई, आईसीएसई विद्यालयों में अध्ययनरत कक्षा 6 से कक्षा 10 तक के छात्र छात्राएं अपने अपने विद्यालय के माध्यम से पंजीकरण करा सकते है, प्रत्येक विद्यालय अधिकतम 5 बच्चों का रजिस्ट्रेशन 15 अक्टूबर तक इन्सपायर अवार्ड की वेबसाइट पर कर सकते है। उन्होंने कहा कि जिन छात्रों का क्रिएटिव आईडिया शासन द्वारा चयनित किया जाएगा, उनको 10000 रुपए प्रति छात्र अवार्ड के रूप में दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस धनराशि का उपयोग छात्र छात्राओं द्वारा अपने क्रिएटिव आईडिया पर आधारित मॉडल बनाने में किया जाएगा।
नॉडल अधिकारी बृजेश कुमार ने कहा कि प्रकृति से जुड़े, दैनिक समस्याओं का ठीक प्रकार से प्रेक्षण कर ही हम अच्छा प्रोजेक्ट तैयार कर सकते है। कार्यशाला में सरकारी, वित्तविहीन, हिन्दी व अंग्रेजी माध्यम के सभी माध्यमिक विद्यालयों के 127 विज्ञान शिक्षकों व 28 नॉडल अधिकारियों ने प्रतिभाग किया। इस अवसर पर प्रधानाचार्य हरि ओम गणपति सहस्रबुद्धे ने उपस्थित सभी शिक्षकों का आभार व्यक्त किया। कार्यशाला में राजकमल वर्मा, अवनीश धीमान, अभिषेक गर्ग, आदि का सहयोग रहा। इस अवसर पर राखी कौशिक, समुन्द्र सेन, आशीष द्विवेदी, मदन गोपाल, कपिल त्यागी आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहे।