यूथ वर्ल्ड फैला रहा है पूरे देश मे सकारात्मक सोच का परचम
बीकानेर। सकारात्मक सोच के साथ पूरे देश भर में अग्रणी रुप से कार्य करते हुए यूथ वर्ल्ड सोशल मंच अपना सकारात्मक परचम फैला रहा है और समय समय पर आयोजन कर देश भर की प्रतिभाओं का सम्मान कर उन्हें प्रोत्साहित करना वही यूथ वर्ल्ड सोशल मंच की देश के विभिन्न प्रदेशों की इकाइयों द्वारा समाज सेवा कार्य करना अद्धभुत है, यह विचार यूथ वर्ल्ड सोशल मंच के यूथ वर्ल्ड एक्सीलेंसी अवॉर्ड 2021 के वर्चुअल समारोह में मुख्य अतिथि के रुप मे पटल से बोलते हुए महिला सशक्तिकरण की सशक्त हस्ताक्षर बीकानेर की महापौर सुशीला कंवर राजपुरोहित ने व्यक्त किये और यूथ वर्ल्ड सोशल मंच के प्रमुख डॉ.भैरु सिंह राजपुरोहित, निदेशक डॉ.मधुमाया सिंह दिल्ली, प्रधान सरंक्षक राज कंवर राठौड़, महामहोपोध्याय पण्डित राजेंद्र शास्त्री राजकोट, रश्मिलता मिश्रा बिलासपुर, राखी पुरोहित जयपुर, नेशनल एडवाइजर डॉ.सुरेन्द्र गोयल सिरसा, अलका हेज़ल भटिंडा, दलपत सिंह साथुआ कोल्हापुर, डॉ.कृष्ण कुमार मिश्र बिहार, डॉ.रजनी झा उत्तराखण्ड, ब्रांड एम्बेसडर बाल कवि प्रतीक शर्मा आगरा सहित सभी टीम को बधाई दी और कहा की आपके हर नेक कार्य मे में सदैव साथ हु और आप सबके नेक कार्यो को साधुवाद है और वर्चुअल आयोजन के माध्यम से सम्मानित होने वाली देश भर की प्रतिभाओं को यूथ वर्ल्ड एक्सीलेंसी अवॉर्ड 2021 से सम्मानित होने की बधाई दी। यूथ वर्ल्ड सोशल मंच द्वारा आयोजित यूथ वर्ल्ड एक्सीलेंसी अवॉर्ड 2021 के वर्चुअल आयोजन की मुख्य अतिथि बीकानेर महापौर सुशीला कंवर राजपुरोहित थी, समारोह की अध्यक्षता शिक्षाविद और समाज सेवी डॉ. सुरेन्द्र गोयल सिरसा ने की तो विसिष्ठ अतिथि के रूप में फ़िल्म स्टार कुणाल सिंह राजपूत मुम्बई, समाज सेविका शर्मिला राजपुरोहित मुम्बई, वरिष्ठ कवि सुख सिंह आऊवा, डॉ. दिनेश सिंह बिलाड़ा उपस्तिथ रहे। सभी ने अपने विचार रखे और सम्मानित होने वाली प्रतिभाओ को बधाई दी। समारोह का आगाज मंत्रों के साथ यूथ वर्ल्ड सोशल मंच बिहार अध्यक्ष डॉ. कृष्ण कुमार मिश्र नें किया। श्रया पांडे बिलासपुर ने स्वागत गीत और निदेशक मधुमाया सिंह ने शब्दों के माध्यम से सभी का स्वागत किया।
वर्चुअल यूथ वर्ल्ड सोशल मंच के समारोह पटल से यूथ वर्ल्ड एक्सीलेंसी अवॉर्ड 2021 से सम्मानित होने वाले मनोज चंचलानी कोटा, ज्योति शर्मा दिल्ली, डॉ. कृष्ण कुमार मिश्र बिहार, डॉ.शशी भूषण मिश्र बिहार, डॉ. नलिनी श्रीवास्तव बिहार, डॉ. रत्नाकर राणा बिहार, रमाकान्त पाण्डेय बिहार, डॉ. जितेन्द्र नारायण सिंह बिहार, डॉ. ललिता सिंह बिहार, रेखा कुमारी बिहार, डॉ. संजीव कुमार बिहार, डॉ. विपुल नाथ त्रिपाठी बिहार, डॉ. रजनी झा हरिद्वार, वर्षा अवस्थी बिलासपुर, मीनाक्षी राजपुरोहित अजमेर, रिया दगड़ा जयपुर, सीमा वालिया बीकानेर, रमन प्रीत कौर देहरादून, प्रो. उन्नति शर्मा अजमेर, सीए परिमल अग्रवाल मुरादाबाद, डॉ. सत्यनारायण चौधरी जयपुर, शोभा त्रिपाठी बिलासपुर, सोमा सुवालका बूंदी, रश्मि नामदेव कोटा, रागिनी उपलपवार भोपाल, डॉ. अपर्णा मिश्रा बिलासपुर, डॉ. मीनाक्षी सुकुमारन नोएडा, सुरेखा दीक्षित बिलासपुर, निरुपमा त्रिवेदी इंदौर, नितिशा त्रिवेदी इंदौर, शोभा चाहील बिलासपुर, श्रया पांडे बिलासपुर, मोहन भाई नागपुर, रश्मि मिश्रा भोपाल, हरियाणा गौरव सुनील शर्मा गुड़गाव, कवि राजेश पुरोहित भवानी मंडी, मुकेश कुमार बिहार, ज्वाला कुमार सीवान बिहार, रुचि साधवानी जयपुर, रचना सक्सेना प्रयागराज, पिंकी जोशी नोखा, डॉ. संदीप कुमार शुक्ल कुशीनगर, सावित्री मिश्रा उड़ीसा, नगमा खान दिल्ली, अभिषेक पाण्डेय मऊ, डॉ. रजनीश सक्सेना बरेली, ओपी बायला पावटा, डॉ. राजेश कुमार नांगलिया पिलानी, वान्या कंचन सिंह दिल्ली, सभी 51 प्रतिभाओ ने अपना परिचय और अपने विचार सबके साथ सांझा किये। मुख्य रुप से डॉ कृष्ण कुमार मिश्र, डॉ. संदीप शुक्ल कुशीनगर, रश्मिलता मिश्रा बिलासपुर, कवि राजेश पुरोहित भवानीमंडी, हरियाणा गौरव सुनील शर्मा, प्रीत कौर देहरादून, रमाकांत पांडे बिहार, डॉ. शशिभूषण मिश्र बिहार सहित कई वक्ताओ ने सस्कृत भाषा को बढ़ावा देने की बार को पुरजोर रुप से रखा और सभी ने इस बात का स्वागत किया और कहा की हमारी देव भाषा है संस्कृत और हम सबको इसका मांन और गौरव बढ़ाना चाइए और जल्द एक वेबिनार संस्कृत भाषा को केंद्र के रखकर करने का विचार पटल से किया गया।