मेरठ के वकील सुसाइड केस में भाजपा विधायक के वारंट की तैयारी
मेरठ। 5 माह पहले अधिवक्ता ओमकार सिंह सुसाइड केस में पुलिस ने जेल में बंद सभी 11 अभियुक्तों के खिलाफ चार्जशीट कोर्ट में दाखिल कर दी है। इसके साथ ही हस्तिनापुर से भाजपा विधायक दिनेश खटीक की मुश्किलें बढ़ गई हैं। पुलिस उन्हें गिरफ्तार करने के लिए कोर्ट से वारंट लेने की तैयारी में है। वकील की आत्महत्या के बाद मेरठ में एक हजार से अधिक वकीलों ने जमकर बवाल किया था। भाजपा विधायक पर कार्रवाई की मांग को लेकर एसएसपी ऑफिस में तोड़फोड़ भी हुई थी। विधायक पर आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोपों के तहत केस दर्ज है। गंगानगर थाना क्षेत्र के ईशापुरम निवासी ओंकार सिंह तोमर मेरठ कचहरी में वरिष्ठ अधिवक्ता थे। वकील ओंकार के बेटे लव की शादी 28 फरवरी 2020 को मुजफ्फरनगर के खतौली निवासी स्वाति से हुई थी। वकील के बेटे लव की अपनी पत्नी से अनबन हुई। जिसके बाद वकील की पुत्रववधू ने खतौली थाने में ससुरालियों के खिलाफ दहेज का केस दर्ज करा दिया। वकील के बेटे लव का आरोप था कि भाजपा विधायक लड़की पक्ष के साथ मिलकर समझौते में 15 लाख रुपये मांगने का दबाव बना रहे थे। जिसमें वकील ओंकार सिंह तो धमकी भी दी गई। 13 फरवरी 2021 को वकील ओंकार सिंह तोमर ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर दी। आत्महत्या के प्रकरण में भाजपा के हस्तिनापुर विधायक दिनेश खटीक, पूर्व प्रधान धर्मपाल, पूर्व प्रधान सेंसरपाल, संजय, मनोज, मुकेश, बलराज, मुनेंद्र, जोगेंद्र, विनीत, रवित, स्वाति, राजकुमार, पर आत्म्हत्या के उकसाने की धारा में केस दर्ज हुआ था। वह केस गंगानगर गंगानगर थाने में वकील के बेटे की तरफ से दर्ज कराया था। नामजद आरोपी संजय ने भी बाद में आत्महत्या कर ली थी। मेरठ बार एसोसिएशन के पूर्व महामंत्री रामकुमार शर्मा ने कहा की हमारे जब अपनी मांग रखी और प्रदर्शन की तो उसके बाद भाजपा विधायक पर केस दर्ज हुआ। लेकिन भाजपा विधायक की गिरफ्तारी नहीं हुई। कई बार एसएसपी, डीएम व कमिश्नर से भी शिकायत की थी। रामकुमार शर्मा का कहना की मेरठ की पुलिस सत्ता के दबाव है। भाजपा विधायक के दबाव में आकर आरोपी विधायक के दबाव में है। जेल में बंद सभी 11 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट लगाई है। विधायक के खिलाफ के जांच प्रचलित रखी है। विधायक ने जमानत नहीं कराई। जबकि गंगानगर थाना भी विधायक के पास है। *इंस्पेक्टर बोले विधायक के वारंट की तैयारी* इंस्पेक्टर गंगानगर ऋषिपाल सिंह का कहना है की भाजपा विधायक दिनेश खटीक, मनोज और धमर्पाल की गिरफ्तारी नहीं हुई है। इन आारोपियों के कोर्ट से वारंट लेने की तैयारी की जा रही है। जो आरोपी जेल में हैं उनके खिलाफ आरोप पत्र दाखिल हो चुका है