राजधानी में भूमाफिया चिन्हित करने का काम शुरू,  तीन या इससे अधिक जमीन के मुकदमे वालों पर नजर

शि.वा.ब्यूरो, लखनऊ। भूमाफियाओं पर शिकंजा कसने के लिए बीते-दिनों पुलिस कमिश्नर सुजीत पांडेय ने जिस सेल का गठन किया था, उसने काम शुरू कर दिया है। नये भूमाफियों को चिन्हित करने के लिये सूची बनाई जा रही है। इसके अतिरिक्त जिन लोगों पर तीन या इससे अधिक जमीन संबंधी मुकदमे हैं उनके नाम भी भूमाफियाओं की सूची में शामिल किए जाएंगे। जमीन संबंधी मामलों के विवाद की शिकायत पुलिस कमिश्नर कार्यालय में गठित इस सेल से की जा सकती है। इस सेल से उन संगठित गिरोह के सदस्यों पर भी कार्रवाई होगी जो जमीन संबंधी मामलों में कब्जेदारी से लेकर मारपीट तक की घटनाओं में शामिल हैं। सेल ऐसे लोगों को भी चिन्हित करने का काम करेगी।

कमिश्नरेट व्यवस्था में जमीन संबंधी मामलों में बढ़ती घटनाओं को देखते हुए लिया गया निर्णय था। अब ये सेल भूमाफियों को चिन्हित करने के बाद उनपर कार्रवाई करेगी। ओएलएक्स पर पुराना मोबाइल बेचने की पोस्ट डालकर जालसाज ने मो. अतीक से 10,300 रुपए ठग लिए। पीड़ित ने पीजीआइ थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। अतीक ने बताया कि उन्होंने मोबाइल खरीदने के लिये ओएलएक्स साइट सर्च की थी, जिसमें नौ हजार रुपये में स्मार्टफोन देने की बात लिखी थी। अतीक ने प्रोफाइल में दिये गये सैन्य कर्मी प्रदीप के नम्बर पर कॉल की। बातचीत के दौरान प्रदीप ने गुजरात के भुज में तैनात होने की जानकारी दी। कुरियर चार्ज के तौर पर अतीक करीब 1300 रुपये और आधार कार्ड की फोटो प्रदीप को भेज दी। 10 सितंबर को उन्हें सैनिक कोरियर के डिलेवरी ब्वाय का फोन आया, जिसने नौ हजार रुपये जमा करने के बाद कोरियर पहुंचाने की बात कही। अतीक ने प्रदीप के खाते में रुपये जमा कर दिये, इसके बाद भी उन्हें मोबाइल नहीं मिला। इंस्पेक्टर केके मिश्र ने बताया कि पीड़ित की शिकायत पर मुकदमा दर्ज कर जांच की जा रही है।