डा.मिली भाटिया आर्टिस्ट की नारी अंतर्मन पर पांचवी पेंटिंग में यंग गर्ल की मनोदशा प्रदर्शित करने की कोशिश


शि.वा.ब्यूरो, रावतभाटा (राजस्थान)। डॉक्टर मिली भाटिया आर्टिस्ट बताती हैं कि नारी अंतर्मन की 7 पेंटिंग में से मेरी मेरी पाँचवी पेंटिंग यंग गर्ल की है, जिसमें नारी का एक अलग रूप और उसके मनोभावों को प्रदर्शित करने की कोशिश की गयी है। इस पेंटिंग में युवा लड़की काफी खुश नजर आ रही है। उसे हर काम करने की आजादी है। पेंटिंग में युवती रंग और बु्रश के साथ चित्र में रंग भरने में व्यस्त है। पेंटिंग में दर्शाने की कोशिश की गयी है कि आज नारी सिर्फ दर्द में ही नहीं जी रही है, बल्कि वह आजाद है और जीवन में कुछ भी कर सकती है। ऐसा कुछ भी नहीं है कि उसको बाहर नहीं निकलने दिया सकता है। नारी आज बाहर अच्छा कर रही है और आगे बढ़ रही है। आज नारी बहुत खुश भी है और आगे बढ़कर समाज के लिए कुछ अच्छा करने की कोशिश कर रही है। यह पेंटिंग सीरीज मैंने वर्ष 2008 में एमए की शिक्षा प्राप्त करने के दौरान बनायी थी। इसे प्रदर्शनी में स्थान मिला था और इस पेंटिंग को काफी सराहा भी गया था।