श्रीराम काॅलेज के सभागार में वर्तमान परिपेक्ष्य में ऑनलाइन एवं डिजिटल शैक्षिक पद्धति तथा लैक्चर स्टूडियों का विकास विषय पर राष्ट्रीय वेबीनार आयोजित


शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। श्रीराम काॅलेज के सभागार में सरकार व प्रशासन द्वारा जारी कोरोना संक्रमण के प्रसार के रोकथाम संबंधि निर्देशों व नितियों का पालन करते हुये आगामी शैक्षिक सत्र, कोरोना संक्रमण काल एवं शिक्षा के क्षेत्र में तेजी से विकसित होते ऑफलाईन एवं डिजिटल शैक्षिक मंच की जरूरत एवं सुलभता को ध्यान में रखते हुये एक राष्ट्रीय वेबीनार का आयोजन किया गया। जिसका विषय वर्तमान परिपेक्ष्य में ऑनलाइन एवं डिजिटल शैक्षिक पद्धति तथा लैक्चर स्टूडियों का विकास रहा।  
 राष्ट्रीय वेबिनार में मुख्य वक्ता के रूप में दुबई से विजय रहे, जबकि वेबिनार की अध्यक्षता तरूण सहगल ने की। डा0 विनीत शर्मा, वेबिनार के समन्वयक रहे। इस अवसर पर दुबई से जूम ऐप के माध्यम से शामिल हुये मुख्य वक्ता विजय ने अपने सम्बोधन में कहा कि कोरोना संक्रमण काल शैक्षिक संस्थाओं के लिये एक बडी चुनौती है। उन्होेंने कहा कि आगामी शैक्षिक सत्र में कक्षा शिक्षण की सम्भावनाएं कोरोना संक्रमण के कारण क्षीण है। अतः शिक्षण संस्थाओं को निर्बाध रूप से शिक्षण प्रक्रिया शुरू करने के लिए ऑनलाइन शिक्षा पद्धति एवं डिजिटल मंच को अपनाना चाहिये। उन्होंने कहा कि हमे दूरदर्शी बनने की जरूरत है तथा ऐसी ऑनलाइन शिक्षण तकनीक को अपने संस्थानो में क्रियान्वित करने की प्रक्रिया शुरू करनी चाहिए। इस विषय पर शिक्षको एवं विद्यार्थियों को वर्कशाप के माध्यम से जागरूक किये जानी की बडी आवश्यकता है जिससे आगामी सत्र में शिक्षण को आसान एवं विद्यार्थियों के लिये सुलभ बनाया जाए। 
 नोएडा से वेबिनार में शामिल एवं संगोष्ठी की अध्यक्षता कर रहे तरूण सहगल ने कहा कि कोरोना काल हमें बहुत कुछ सीखा रहा है, जहाॅं हम अपने आप को साफ एवं सुरक्षित रखना सीख रहे है, वहीं सामाजिक संवेदनाए भी जागृत हो रही है। उन्होने कहा कि जो संस्थाए ऑनलाईन शिक्षा एवं शिक्षण के क्षेत्र में अभी तक समृद्ध एवं सुसज्जित नहीं है तथा ऑनलाईन शिक्षा पद्धति एवं डिजिटल शिक्षण मंच के प्रयोग में पिछडी हुई है, उनको बदलते दौर, मांग एवं संक्रमण काल को ध्यान में रखते हुये अपने आप को सशक्त बनाने की आवश्यकता है। 
वेबिनार में बैंगलोर से शामिल पर्णवम ने बोलते हुये कहा कि ऑनलाइन शिक्षण को सफल एवं सुलभ बनाने के लिये शिक्षण संस्थाओं में ऑनलाइन लेक्चर स्टूडियों उपलब्ध होने चाहिये। जिसके माध्यम से विद्यार्थी घर बैठे ऑनलाइन डिजिटल प्लेटफार्म के माध्यम से शिक्षक द्वारा प्रसारित लेक्चर का सीधा प्रसारण या रिकार्डिड लेक्चर सुगमता से प्राप्त कर सकें। 
   इस अवसर पर श्रीराम काॅलेज निदेशक डा0 आदित्य गौतम, श्रीराम काॅलेज की प्राचार्य डा0 प्रेरणा मित्तल, श्रीराम काॅलेज ऑफ इंजीनियरिंग के निदेशक डा0 आलोक गुप्ता, श्रीराम काॅलेज ऑफ फार्मेसी के निदेशक डा0 गरेन्द्र गौतम, श्रीराम काॅलेज ऑफ लाॅ के प्राचार्य डा0 रविन्द्र प्रताप सिंह, पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग के विभागाध्यक्ष रवि गौतम, कम्प्यूटर एप्लीकेशन विभाग के विभागाध्यक्ष निशांत राठी, श्रीराम काॅलेज आफ मैनेजमेंट के विभागाध्यक्ष डा0 अशफाक, सिविल इंजीनियरिंग से ई0 आदित्य सैनी आदि उपस्थित रहे।