पेट्रोल-डीजल की मूल्यवृद्धि पर छलका संजीबा का दर्द



हमहूं अपने मन की बातें सबसे कह देंगे
डीजल-पेट्रोल करो सस्ता, वरना तुम्हें अबकी वोट नहीं देंगे
तुम्हें राम कसम बस इतना बता
महंगाई पे तब मेरा ले लेगा क्या
हाय लगेगी किसानों की, हम तो बस इतना कहेंगे
तुम्हें वोट नहीं देंगे