मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया गन्ना किसानों से सीधा संवाद, पूछा हाल, अवशेष गन्ना मूल्य भुगतान भी सीधे करने का आश्वासन


शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा एनआईसी में जनपद के किसानों अरविन्द मलिक ग्राम बधाई कलां, ओमकार त्यागी ग्राम बडकली तथा मौ. असलम ग्राम खाईखेडा, जनपद सहारनपुर के किसान सुधीर सिंह एवं जनपद शामली के किसान संदीप कुमार के साथ सीधा संवाद किया तथा कोरोना काल मे उनका हाल जाना। इसी के साथ मुख्यमंत्री द्वारा प्रदेश के गन्ना किसानों के खातो में वर्तमान सरकार के कार्यकाल में 1 लाख करोड रू. बटन दबाकर अन्तरित किये गये, जिसमें जनपद मुजफ्फरनगर के किसानो को 8877.26 करोड रू. का भुगतान किया गया, जिसमें पेराई सत्र 2016-17 का अवशेष 893.35 करोड, पेराई सत्र 2017-18 का अंकन 2984.34 करोड, पेराई सत्र 2018-19 का 2938.94 करोड तथा वर्तमान पेराई सत्र 2019-20 का अंकन 2060.62 करोड सम्मिलित है। 
बता दें कि जनपद मुजफ्फरनगर में इस वर्ष सर्वाधिक 1058.90 लाख कुन्तल गन्ना खरीद की गई है, जिसमें चीनी मिल खतौली द्वारा प्रदेश मे ही नहीं, अपितु देश मे सर्वाधिक 247.30 लाख कुन्तल गन्ना खरीद की गई। जनपद की ही चीनी मिल मन्सूरपुर ने देश में सबसे बाद 19 जून 2020 तक पेराई की। अरविन्द मलिक एवं अन्य किसानों द्वारा मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि इस कोरोना काल में भी सरकार द्वारा चीनी मिलों को चालू रखते हुए किसानो के शत-प्रतिशत गन्ने की आपूर्ति करायी गयी इसके लिए वे मुख्यमंत्री को धन्यवाद ज्ञापित करते हैं। इसके अतिरिक्त गन्ना किसानों ने इस वर्ष सरकार द्वारा आॅनलाईन पर्ची निष्कासन हेतु लागू की गई ई-गन्ना ऐप प्रणाली की भी प्रशंसा की। किसानों ने सीएम को अवगत कराया कि विगत वर्षो में पेपर पर्ची के खोने एवं नष्ट होने का डर रहता था, परन्तु इस वर्ष एसएमएस के माध्यम से पर्ची प्राप्त होने से किसानों को गन्ना आपूर्ति में अत्यधिक सुविधा हुई। अरविन्द मलिक ने कहा कि वर्तमान सरकार द्वारा अपराध पर अंकुश लगाकर भयमुक्त माहौल देने से किसानो द्वारा निर्भय होकर अपने खेतों में काम किया गया है।
मुख्यमंत्री ने किसानों को आश्वस्त किया कि गन्ना किसानों का हित सरकार की प्राथमिकता में है, उन्हे किसी प्रकार की कोई समस्या नही होने दी जायेगी। सीएम ने कहा कि किसानों के भुगतान हेतु सरकार प्रयासरत है। जनपद मुजफ्फरनगर का किसानों का विगत वर्षो का सम्पूर्ण भुगतान करा दिया गया है तथा वर्तमान पेराई सत्र का भी 62 प्रतिशत भुगतान करा दिया गया है। अवशेष भुगतान भी यथाशीघ्र करा दिया जायेगा। 
 काॅन्फेंन्स में गन्ना विभाग के कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा, राज्य मंत्री सुरेशपासी, मुख्य सचिव आरके तिवारी, अपर मुख्य सचिव गन्ना संजय आर भूसरेड्डी तथा एनआईसी में जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जयाराजन, अपर जिलाधिकारी प्रशासन अमित सिंह, उप गन्ना आयुक्त सहारनपुर डा. दिनेश्वर मिश्र, जिला गन्ना अधिकारी मुजफ्फरनगर डा. आरडी द्विवेदी, जिला गन्ना अधिकारी शामली विजय बहादुर सिंह आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहे।