शहीद मंगल पांडे राजकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय में आयोजित पांच दिवसीय फैकल्टी डेवलपमेंट कार्यक्रम का पहला दिन, कार्यक्रम की विस्तृत रूपरेखा प्रस्तुत की


शि.वा.ब्यूरो, मेरठ। शहीद मंगल पांडे राजकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय मेरठ द्वारा तकनीकी दक्षता विकास, समय की मांग विषय पर आयोजित पांच दिवसीय फैकल्टी डेवलपमेंट कार्यक्रम का उद्घाटन आज प्रातः 11 बजे मां शारदे की वंदना से किया गया। तत्पश्चात आयोजन सचिव डॉ भारती शर्मा ने कार्यक्रम की विस्तृत रूपरेखा प्रस्तुत की। कार्यक्रम की अध्यक्ष महाविद्यालय प्राचार्य डॉ संध्या रानी ने समस्त अतिथियों का स्वागत किया। 
उद्घाटन व्याख्यान में बतौर मुख्य अतिथि संयुक्त शिक्षा निदेशक डा. राजीव पांडे ने कहा कि वर्तमान चुनौतीपूर्ण समय में हम सभी ऑनलाइन तकनीकी से जुड़ने का प्रयास कर रहे हैं और अधिकतम छात्र छात्राओं को भी जोड़ने की हमारी कोशिश जारी है। बतौर विशेष अतिथि क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी डा. राजीव गुप्ता ने महाविद्यालय के आयोजन की सराहना की और ऐसे कार्यक्रम के आयोजन की उपयोगिता पर जोर दिया। विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित मुख्य वक्ता शोभित विश्व विद्यालय के कुलपति प्रो. एपी गग ने अंतरराष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य में भी ऐसे आयोजनों का उल्लेख करते हुए इस महामारी के दौरान भारत में उच्च शिक्षा के क्षेत्र में ऑनलाइन पठन-पाठन और शिक्षण प्रक्रिया पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम का संचालन डा. गीता चैधरी ने किया। डा. राकेश कुमार ने सभी अतिथियों और प्रतिभागियों का धन्यवाद ज्ञापन किया।  



संस्थान की मीडिया प्रभारी डा. लता कुमार ने बताया कि आज यह कार्यक्रम जूम ऐप द्वारा संचालित किया गया, जिसे यूट्यूब चैनल से सीधा देखा गया और टेलीग्राम एप के माध्यम से इससे लगभग 700 प्रतिभागी जुड़े रहे। तकनीकी सत्र के अंतर्गत इस  पांच दिवसीय फैकेल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम के प्रथम दिवस के प्रथम सत्र का विषय था ऑनलाइन लर्निंग चेंज इन प्रोग्रेस एंड स्किल डेवलपमेंट। जिसमें विषय विशेषज्ञ मेरठ कॉलेज के बीएड विभाग की एसोसिएट प्रोफेसर डा. मंजू गुप्ता रहीं। उन्होंने कोविड 2019 महामारी की गंभीरता को बताते हुए वर्तमान परिप्रेक्ष्य में शिक्षक के सम्मुख आने वाली समस्याओं पर प्रकाश डाला और इस दौरान ऑनलाइन लर्निंग और ऑनलाइन मूल्यांकन के महत्व को बताया। उन्होंने अपने व्याख्यान के माध्यम से शिक्षकों को ई लर्निंग सामग्री के विकास हेतु सुझाव दिए और छात्रों को 12 विभिन्न प्रकार के कौशल के विकास हेतु प्रेरित किया । इस सत्र के संयोजक डॉ सत्यपाल सिंह और मॉडरेटर डॉ. पारुल मलिक रहीं। 



इस अवसर पर विभिन्न प्रतिभागियों के साथ संयुक्त शिक्षा निदेशक डॉ राजीव पांडे, क्षेत्रीय उच्च शिक्षा अधिकारी डा. राजीव गुप्ता, महाविद्यालय की प्राचार्य डा. संध्या रानी, संयोजक डा. गीता चैधरी, आयोजन सचिव डा. भारती शर्मा, कन्वीनर डा. राकेश कुमार उपस्थित रहे। आयोजन के द्वितीय सत्र में श्वर्चुअल टीम बिल्डिंग इंपॉर्टेंस हाउ टू बिल्डश् विषय पर श्री नितिन गोस्वामी, एसआरएम दिल्ली, एनसीआर कैंपस द्वारा नवीन तथ्यों पर आधारित एवं सारगर्भित व्याख्यान दिया गया । इस व्याख्यान से समस्त प्रतिभागी लाभान्वित हुए। इस सत्र का संचालन डा. स्वर्णलता कदम और डॉ. विकास कुमार के द्वारा किया गया। 




आयोजन में महाविद्यालय प्राचार्य डा.संध्या रानी, डा. दिनेश चंद, डा. गीता चैधरी, डा. भारतीय शर्मा, डा. वैभव शर्मा, डा. राकेश कुमार, डा. विकास कुमार की महत्वपूर्ण भूमिका रही ।