करणी सेना के महीपाल सिंह पर देश द्रोह का आरोप, कार्रवाई की मांग

कूर्मि कौशल किशोर आर्य, शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र।

 


भारत के शिल्पकार राष्ट्र निर्माता, भारत रत्न, लौहपुरूष प्रथम गृह मंत्री सह उप प्रधानमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल के बारे में करणी सेना के पदाधिकारी महीपाल सिंह  मोबाइल नं 9829056669 ने अपमान जनक टिप्पणी करके सरदार पटेल को अपमानित करते हुए देश द्रोह का अपराध किया है। सरकार अविलम्ब इस अपराधी के खिलाफ कठोर कार्रवाई करके उन्हें सजा दे वर्ना हम देश के जिम्मेदार नागरिक को इस महीपाल सिंह अपराधी और सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने के लिए बाध्य होना पड़ेगा।




भारत समेत पूरी दुनियां को मालूम है कि आजादी के बाद सरदार वल्लभ भाई पटेल जी ने अपने सूझ बुझ, कर्मठता, दृढ़ संकल्प, कर्तव्यनिष्ठा और जिम्मेदारी को पूरा करने के लिए देश के 565 देशी रियासतों, राजा -रजबारों को भारत में विलय करने के लिए अथक प्रयास किये इसी कारण से सरदार वल्लभ भाई पटेल को भारत का बिस्मार्क भी कहा जाता है। आजादी के पहले बारदोली (गुजरात) के किसानों के लिए  आन्दोलन से लेकर बाद के राष्ट्र निर्माण करने तक सरदार पटेल जी अदभुत साहस, दृढ़ निश्चयी संकल्प और व्यवहार ने भारत को पूर्णता को हासिल करने में प्रमुख योगदान दिया। यही कारण है कि आज आजादी के 73 वर्षों के बाद भी सरदार पटेल की लोकप्रियता भारत के बाकी सभी समकालीन नेताओं से ज्यादा बनी हुई हैं। पर यह करणी सेना के पदाधिकारी महीपाल सिंह का दुस्साहस और अनुशासनहीनता तो देखिये कि कैसे भारत के एक प्रमुख नेता, स्वतंत्रता सेनानी, भारतीय रत्न लौहपुरूष सरदार वल्लभ भाई पटेल जी के बारे में उनके पिताजी के उपर अपमान जनक टिप्पणी करने का अपराध किया है।

सरकार अविलम्ब इस अपराधी के खिलाफ कठोर कार्रवाई करे वर्ना अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा समेत देश के सभी कुर्मी संगठनों के साथ ही देश के सभी सरदार पटेल के आदर्शों और सिद्धातों पर चलने वाले संगठन और नागरीक को मजबूरन सड़क पर उतरना पड़ेगा। हम किसी भी कीमत पर अपने देश के राष्ट्र निर्माता और महान नेता सरदार वल्लभ भाई पटेल का अपमान बर्दाश्त नहीं करेंगे। 

 

          संस्थापक राष्ट्रीय समता महासंघ सह व राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी  अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा