पाकिस्तानी प्रेमी के लिए भारत के गौरव ने करवाया सेक्स चेंज (शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र के वर्ष 12, अंक संख्या-29, 14 फरवरी 2016 में प्रकाशित लेख का पुनः प्रकाशन)


शि.वा.ब्यूरो, लखनऊ। एक ओर जहां पठानकोट एयरबस पर आतंकी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के रिश्तों में नई कड़वाहट आ गई है, वहीं दोनों मुल्कों के बीच प्यार और दोस्ती की एक नई कहानी परवान भी चढ़ रही है।
भारत और पाकिस्तान के तल्ख रिश्तों की कहानी किसी से छुपी नहीं है, लेकिन इन दोनों मुल्कों में रहने वालों लोगों की सोच सियासी सरहदों से कहीं ऊपर हैं। ऐसी ही प्यार की एक दास्तान राजधानी लखनऊ की है, जहां एक शख्स ने अपने पाकिस्तानी प्रेमी के लिए अपना लिंग परिवर्तन करा डाला। गौरव वैसे तो कथक डांसर हैं, लेकिन फेसबुक के जरिए उनकी दोस्ती पाकिस्तानी मूल के रमजान ;बदला हुआ नामद्ध से हुई। फेसबुक की दोस्ती धीरे-धीरे प्यार में तब्दील हो गई, लेकिन उनके प्यार को जिस्मानी और सामाजिक मान्यता मिलना सबसे बड़ी चुनौती थी। दोनों ने फैसला लिया कि किसी एक को तो अपना अस्तित्व समाप्त करना ही होगा। इसका मतलब साफ था कि किसी एक को अपना सेक्स चेंज करवाना होगा।
लखनऊ के गौरव ने अपने प्यार के लिए अपनी जन्मजात पहचान को मिटाने का फैसला लिया। इसके लिए उसने गूगल का सहारा लिया। उसने देश के टाॅप के प्लास्टिक सर्जन और हार्मोनल एक्सपर्ट की तलाश शुरू की।
गौरव ने प्लास्टिक सर्जन डा.मिथिलेश मित्रा से अपाॅइंटमेंट लेकर कंसल्ट किया। सारी बातें बताने के बाद एक जटिल आॅपरेशन की प्रक्रिया से गुजरने के बाद गौरव अब आशना में बदल गया। इसके बाद वह डा.अम्या जोशी की देखरेख में हार्मोनल ट्रीटमेंट की प्रक्रिया से गुजरा।
अब गौरव से आशना बन चुका है और उसकी मुलाकात मार्च में अपने प्रेमी रमजान से होने वाली है। गौरव लखनऊ घराने के कथक के पुराने इतिहास को फिर से जीवित करना चाहता था। उसने इस पर कई किताबें भी लिखी, लेकिन पांच साल पहले फेसबुक पर आई एक फ्रेंड रिक्वेस्ट ने उसकी जिंदगी को ही बदल दिया। पांच साल पहले उसे पाकिस्तान से रमजान की फ्रेंड रिक्वेस्ट आई, जिसे उसने एक्सेप्ट कर लिया। चूंकि दोनों के शौक काफी मिलते जुलते थे, इसलिए दोस्ती आगे बढ़ चली। रमजान का सूफी शौक और गौरव का कथक प्रेम दोनों को काफी करीब ले आया। दोनों को पता ही नहीं चला कि कब वे एक दूसरे से मोहब्बत करने लगे।
रमजान ने पढ़ाई का हवाला देकर बातचीत भी बंद कर दी, लेकिन प्यार ऐसा था कि एक दिन की भी दूरी बर्दाश्त नहीं थी। आखिर रमजान ने अपने प्यार का इजहार कर दिया। गौरव ने भी उसे एक्सेप्ट कर लिया। अब उनके सामने चुनौती थी दोनों का लड़का होना। रमजान ने कहा कि किसी एक को अपनी पहचान समाप्त करनी होगी। काफी सोचने के बाद रमजान ने कहा कि मैं यह कुर्बानी देने को तैयार हूं, फिर गौरव ने सोचा कि जब रमजान उसके लिए इतना त्याग कर सकता है तो वह क्यों नहीं। फिर क्या था, गौरव ने इन्टरनेट पर हिंदुस्तान के सबसे मशहूर सर्जन की तलाश शुरू की। सैक्स चैंज कराने के लिये डेढ़ साल लंबी आॅपरेशन प्रक्रिया में खर्च भी आठ लाख रुपए का था, जो बड़ी रकम थी, लेकिन जहां चाह, वहां राह की तर्ज पर सब आसान हो गया। बकौल गौरव 10 अक्टूबर को मेरा जन्म हुआ था और उसी दिन 2015 में मैं गौरव से आशना बन गई।
गौरव कहते हैं कि मेरी कई लड़कियां फ्रेंड हैं और उन्हें मेरे बारे में कुछ भी पता नहीं। इतना ही नहीं, अब तो लड़के भी मुझे कभी-कभी छेड़ देते हैं।