कुर्मी
कुर्मी लविश गंगवार,  शिक्षा वाहिनी समाचार पत्र।

 

कुर्मी होकर कुर्मी का  

               आप सभी सम्मान करो 

सभी कुर्मी  एक हमारे 

          मत उसका नुकसान करो

चाहे कुर्मी कोई भी हो 

            मत उसका अपमान करो 

जो ग़रीब हो अपना कुर्मी भाई 

          धन देकर  धनवान करो 

हो गरीब कुर्मी की बेटी 

          मिलकर कन्या दान करो 

अगर कुर्मी  लड़े चुनाव 

        शत प्रतिशत मतदान करो 

हो बीमार कोई भी कुर्मी

         उसे रक्त का दान करो 

बिन घर के कोई मिले कुर्मी 

         उसका खड़ा  मकान करो 

मामला अदालत में गर उसका 

        बिना फीस के काम करो 

अगर कुर्मी दिखता भूखा 

        भोजन का इंतजाम करो 

अगर कुर्मी की हो फाईल

         शीघ्र काम श्री मान करो

 यदि कुर्मी की लटकी हो राशि 

        शीघ्र आप भुगतान करो 

कुर्मी को गर कोई सताये 

       उसकी आप पहचान करो 

अगर जरूरत हो कुर्मी  को 

        घर जाकर श्रमदान करो

अगर मुसीबत में हो कुर्मी तो

          फौरन मदद का काम करो 

अगर कुर्मी दिखे वस्त्र बिन 

            उसे अंग वस्त्र का दान करो 

अगर कुर्मी  दिखे उदासा 

            खुश करने का काम करो 

अगर कुर्मी घर पर आये 

          जय सरदार पटेल बोल सम्मान करो 

अगर फोन पर बाते करते 

         पहले जय सरदार कहा करो

अपने से हो बड़ा कुर्मी

         उसका पैर छूकर प्रणाम करो

हो गरीब कुर्मी  का बेटा

         उसकी मदद तमाम करो 

बेटा हो गरीब कुर्मी का पढ़ता 

          कापी पुस्तक दान करो 

ईश्वर ने गर तुम्हें दिया कुर्मी कुल

           आप खुद पर अभिमान करो।

 

रजलामई