जिलाधिकारी ने उधोग, स्वंय सहायता समूह एवं मनरेगा के अन्तर्गत कराये जो रहे कार्यो का भौतिक निरीक्षण किया, कहा-प्रातः 06 बजे से प्रातः 09 बजेे तक खुलेंगी टेलर, मोबाईल शाॅप, मोबोईल रिपेरिंग शाॅप की एकल दुकाने


शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने आज कोरोना/लाॅकडाउन के दृष्टिगत उधोगो के संचालन की दी गई अनुमति उपरान्त हो रहे उत्पादन एवं वहां कार्य कर रहे श्रमिकों के रोजगार के सम्बन्ध में पुरी इन्डस्ट्रीस, जानसठ रोड पर जाकर निरीक्षण किया। उन्होने कहा कि श्रमिकों को रोजगार दिया जाये। सोशल डिस्टैंसिग का पालन कराया जाये, उधोगों मे कार्य कर रहे कामगारों को मास्क लगाकर कार्य कराया जाये। समय समय पर सैनेटाईजेशन की पूर्ण व्यवस्था हो।
जिलाधिकारी ने सदर ब्लाॅक के गांव छपार में एक लाख उनसठ हजार की धनराशि से कराये जा रहे मनरेगा के अन्तर्गत कार्य का स्थलीय निरीक्षण किया। निरीक्षण में श्रमिकों द्वारा सोशल डिस्टैंसिग अपनाकर कार्य होता हुआ पाया गया। हाथ धोने के लिए पानी, साबुन आदि की व्यवस्था को भी जिलाधिकारी ने देखा। उनहोने श्रमिकों से कहा कि माॅस्क या गमछे का प्रयोग अवश्य करें। समय समय पर साबुन से हाथ भी धोते रहें। मनरेगा के अन्तर्गत सभी ग्रामीण क्षेत्रों में निर्माण कार्य प्रारम्भ करते हुए प्रत्येक श्रमिक कोे रोजगार उपलब्ध कराया जाये। उन्होने कहा कि श्रमिकों का जाॅब कार्ड बनाया जाये और उनका श्रम विभाग में भी पंजीकरण कराया जाना सुनिश्चत किया जाये।



उसके जिलाधिकारी ने छपार गांव के स्वंय सहायता समूह आशा का उनके घर जाकर अवलोकन व निरीक्षण किया। । उन्होने स्वंय सहायता समूह के सदस्यों के साथ संवाद भी किया तथा तैयार की जा रही सामग्री उसकी बिक्री आदि के विषय में भी बात की। उन्होने कहा कि सोशल डिस्टैंसिग का पालन कर कार्य किया जाये।
जिलाधिकारी ने बताया कि कोरोना/लाॅकडाउन के दृष्टिगत जनसामान्य की सुविधाओं के लिए टेलर(दर्जी), मोबाईल शाॅप व मोबाईल रिपेयर की एकल दुकानों( मार्किट/काॅपलेक्स) को छोडकर प्रात 06 बजे से प्रात 09 बजे तक खोलने की अनुमति दी गई है।