जिलाधिकारी ने क्वारंटाईन सैन्टर का निरीक्षण कर प्रवासी श्रमिकों से किया संवाद, हर सम्भव सहायता का दिलाया भरोसा, गेहूं क्रय केन्द्र व कोल्हू, उघोग, स्वंय सहायता समूह व मनरेगा के अन्तर्गत कराये जा रहे कार्यो का निरीक्षण भी किया


शि.वा.ब्यूरो, मुजफ्फरनगर। लाॅकडाउन में बाहर प्रदेशों व अन्य जनपदों से आ रहे प्रवासी श्रमिकों के भोजन, पानी व अन्य व्यवस्थाओं के दृष्टिगत जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे ने आज मोरना के महृषि शुकदेव इन्टर काॅलेज में बनाये गये क्वांरटाईन सैन्टर का निरीक्षण किया। उन्होने वहां पर रूके प्रवासी श्रमिकों से बात भी की और उनकी पूर्ण सहायता का आश्वासन भी दिया। उन्होने कहा कि सभी को उनके गतंव्य स्थान पर भेजा जायेगा। किसी को परेशान होने की आवश्यका नही है। उनहोने कहा कि सभी धैर्य बनाये रखे। उन्होने सैन्टर प्रभारी को निर्देश दिये कि प्रवासी श्रमिकों के भोजन, पानी आदि की व्यवस्था में कोई कोताही न हो।



जिलाधिकारी द्वारा आज ग्राम छछरौली में मनरेगा के अन्तर्गत सोशल डिस्टैंसिग अपनाकर किये जा रहे तालाब खुदाई व जीर्णाेद्वार के कार्य का स्थलीय निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के समय पाया गया कि उक्त स्थान पर 43 श्रमिक कार्य कर रहे थे। कार्य की लागत एक लाख पिचहत्तर हजार छ सौ अठाईस रूपये है। पांच बीघा तालाब की 3 फीट तक खुदाई व जीर्णाेद्वार का कार्य चल रहा था। जिलाधिकारी ने वहां कार्य कर रहे श्रमिकों का माॅस्क का भी वितरण किया। उन्होने कोरोना से बचाव के सम्बन्ध में दिशा निर्देश भी दिये। मनरेगा अन्तर्गत इस ग्राम में 175 जाॅब कार्ड बने है। जिनमें से 30 श्रमिकों के नये जाॅबकार्ड बनाये गये है। उन्होने निर्देश दिये कि श्रमिकों का श्रम विभाग में पंजीकरण कराया जाये। ताकि उन्हे बहुत सी कल्याणकारी योजनओं का लाभ मिल सके। उन्होने छछरौली मे गुड उत्पादन कर रहे कोल्हू का भी निरीक्षण किया।



तत्पश्चात जिलाधिकारी ने मोरना के जय मां जगदम्बे स्वंय सहायता समूह द्वारा किये जा रहे उत्पादों का भी निरीक्षण किया गया। निरीक्षण में पाया गया कि नवजागरण स्वंय सहायता समूह द्वारा मास्क, लोई व चादर आदि बनाये जा रहे है। जिलाधिकारी द्वारा समूहों को अधिक से अधिक कार्य करने हेतु प्रोत्साहित किया गया तथा उनके उत्पाद की ब्रिकी कराने का भी आवश्वासन दिया गया। जिससे की स्वंय सहायता समूह अर्थिक रूप से सुदृढ हो सके। जिलाधिकारी ने स्वयं सहायता समूह की महिलाओं से लोई, व मास्क भी खरीदे।



जिलाधिकारी ने भोपा रोड स्थित टाॅफी का उत्पादन कर रही सन एग्रों इन्डसट्रीज का निरीक्षण किया। उन्होने वहां काम कर रहे श्रमिकों से भी बात की। उन्होने कहा कि सोशल डिस्टैंसिग का पालन कर कार्य किया जाये और मास्क व सेनेटाईजर का प्रयोग किया जाये। उन्होने कहा फैक्ट्री संचालक को निर्देश दिये कि सैनेटाईजेशन की पूर्ण व्यवस्था होनी चाहिए। जिलाधिकारी ने कहा कि मानकों का पूर्ण रूप से पालन कराया जाये। जिलाधिकारी ने आज जट मुझेडा में गेहू क्रय केन्द्र का भी निरीक्षण किया। उन्होने गेहू क्रय की प्रगति व लक्ष्य के बारे में व वहां पर अपना गेहू लेकर आये किसानो से भी गेहू की फसल के सम्बन्ध में बात की।