जनपद पहुंची 47 जनपदों के 1143 श्रमिकों से भरी ट्रेन, 23 बसों में भरकर श्रमिकों किया होम जनपद रवाना



सतेन्द्र उज्जवल मुजफ्फरनगर। जनपद में 47 जिलों के पंजीकृत 1101 श्रमिकों सहित 42 अन्य श्रमिकों को लेकर आयी स्पेशन रेलगाड़ी 22 मई को अपने निर्धारित रात्रि 11.10 के स्थान 12.15 घंटे विलम्ब से आज 23 मई को प्रातः 11.25 बजे स्टेशन पर पहुंची। गाड़ी के स्टेशन पहुंचने से पहले ही रेलवे प्रशासन ने अपनी तैयारियां पूरी कर ली थी। डीएम सेल्वाकुमारी जयाराजन सहित एसएसपी अभिषेक यादव ने स्टेशन का निरीक्षण करके व्यवस्था का पूरा जायजा भी ले लिया था। स्टेशन पर सारी व्यवस्था को एसपी सिटी सतपाल अंतिल ने पूरी तत्परता से सम्भाले रखा।



स्टेशन अधीक्षक विपिन त्यागी के अनुसार महाराष्ट्र दौंड से 47 जनपदों के 1101 पंजीकृत श्रमिकों को लेकर स्पेशल रेलगाड़ी को 22 मई की रात 11.10 बजे यहां स्टेशन पर पहुंचना था, लेकिन यह गाड़ी लगभग 12.15 घंटे विलम्ब से आज 23 मई को प्रातः 1125 बजे स्टेशन पर पहुंची है। उन्होंने बताया कि इससे पहले स्टेशन पर सभी तैयारियां पूरी कर ली गयी थी। रेलवे स्टेशन पर आज जिला पुलिस प्रशासन ने सुबह से ही पूरी व्यवस्था सम्भाल ली थी तथा एसपी सिटी सतपाल आंतिल पूरे आॅपरेशन की कमान सम्भाले हुए थे। स्टेशन अधीक्षक की मानें तो मुख्य टिकट निरीक्षक ;सीटीआईद्ध रोशन लाल, यातायात निरीक्षक मनीष, मनोज, शिवा, पवनकुमार आदि ने जिला प्रशासन के सहयोग से ऐसी व्यवस्था की थी कि कोई भी श्रमिक बगैर मेडिकल कराएं बाहर नहीं जा सके। इसके साथ ही पुलिस प्रशासन के साथ कोर्डिनेशन करके स्पेशल ट्रेन से आये सभी श्रमिकों पर अपनी पैनी नजर बनाए रखी। 



स्टेशन अधीक्षक के अनुसार ट्रेन के हर कोच के गेट पर पुलिस कर्मी तैनात किये गए  थे। रेलगाड़ी के प्लेटफार्म पर रूकने के बाद एक-एक कोच से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराते हुए मजदूरों को नीचे उतारा गया, फिर पुलिस प्रशासन ने इन सभी मजदूरों को रेलवे स्टेशन परिसर में सोशल डिस्टेंसिंग के अंतर्गत रखा और सभी श्रमिकों की थर्मल स्क्रीनिंग कराई। जिला प्रशासन द्वारा सभी श्रमिकों के लिए भोजन पानी की व्यवस्था कराई गयी थी। इसके बाद गैर जनपद के सभी श्रमिकों को 23 बसों में सवार करके उनके गृह जनपदों को रवाना किया गया। 



सूत्रों के अनुसार स्पेशल ट्रेन से आये पंजीकृत 1101 व अपंजीकृत 42 श्रमिकों मंे से जनपद के कस्बा बुढाना के हुसैनपुर कलां के एक ही परिवार के 9 सदस्य शामिल है। इनके नाम ताहिर शाह, भानु ताहिर, तहसीन ताहिर, सरगम ताहिर, फरीदा ताहिर, महक ताहिर, मुस्कान ताहिर व स्याना ताहिर शामिल है। इस ट्रेन में अन्य 46 जिलों में रायबरेली के 6, रामपुर के 12, संत कबीर नगर के 21, श्रावस्ती जनपद के चार, सिद्धार्थनगर के 52, सीतापुर के 15, सोनभद्र के 13, सुल्तानपुर के 3, उन्नाव के 21, वाराणसी के चार, बिजनौर के 48, आगरा के 20, अयोध्या के 6, आजमगढ़ के 29, बागपत के दो, बहराइच के 60, बलिया के 17, बलरामपुर के 10, बाराबंकी के दो, बरेली के चार, बस्ती के 32, भदोही के 86, चंदौली के 3, चित्रकूट के 11, देवरिया के 50, इटावा का एक, फिरोजाबाद के 5, फतेहपुर के 40, गाजियाबाद के 5, गाजीपुर के  14, गोंडा के 35, गोरखपुर के 72, हरदोई के 47 , जौनपुर के 12, झांसी के 11, कानपुर के 10, कौशांबी के 6, कुशीनगर के 66, लखनऊ के 24, महाराजगंज के 19, मैनपुरी के दो, मऊ के 7, मिर्जापुर के 13, प्रतापगढ़ के 6 व प्रयागराज के 156 श्रमिक शामिल है। इनमें से 9 श्रमिक नेपाल निवासी बताये जा रहे हैं। बाकी 42 अपंजीकृत श्रमिक भी इस ट्रेन से आये हैं। 



ज्ञात हो कि देशव्यापी लॉकडाउन की वजह से श्रमिकों के सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया हैं। रोजी के अभाव में दूसरे राज्यों तथा जनपदों में जीविका कमा रहे श्रमिक जैसे भी बन पड़ रहा है, अपने घरों की ओर निकल पडे हैं। सरकार भी इन श्रमिकों की घर वापिसी के लिए यथोचित प्रयास कर रही है। इसी के तहत आज 1143 श्रमिकों को लेकर यहां पहुंची है। इस स्पेशल ट्रेन के स्टेशन पर पहुंचने से पूर्व ही पुलिस प्रशासन दलबल सहित स्टेशन पर मौजूद रहा।


महाराष्ट्र से चलकर 1045 श्रमिकों को लेकर मुजफ्फरनगर पहुंची श्रमिक स्पेशल ट्रेन का जोरदार स्वागत हुआ। इस अवसर पर रेलवे स्टेशन पर जहां बेहतर व्यवस्थाओं के साथ डीएम सेल्वा कुमारी जे, एसएसपी अभिषेक यादव, सीडीओ आलोक यादव, आईएएस एसडीएम कुलदीप मीणा, आईपीएस एसपी सिटी सतपाल अंतिल, एसडीएम अजय अम्बष्ट, थाना सिविल लाइन इंचार्ज डीके त्यागी, महिला थाना इंचार्ज मोनिका चैहान, जिला कार्यक्रम अधिकारी सरदार बलजीत सिंह सहित वहीं कई सामाजिक संस्थाओं के पदाधिकारी मौजूद रहे।



बता दें कि देशव्यापी लाॅकडाउन के बाद से सूने पड़े रेलवे स्टेशन मात्र एक बार ही एक स्पेशल सवारी गाड़ी श्रमिकों को लेकर बिना रूके गुजरी थी। उसके बाद स्टेशन पर दूसरी बार किसी सवारी रेलगाड़ी का हाॅन आज सुनायी दिया। कुछ समय पूर्व मुजफ्फरनगर रेलवे स्टेशन पर सवारी गाड़ी केवल हाॅन देती हुई यहां बिना रूके ही पास हुई थी, जबकि आज आने वाली सवारी गाड़ी न केवल यहां रूकी, बल्कि यही उसका अन्तिम स्टाॅप भी रहा।