वाह...... प्रेमजी महाराज! वाह.....


शि.वा.ब्यूरो, गोरखपुर। गनवदुर्गा व्रत के दौरान 9 दिन के उपवास सहित 9 दिन का मौन रखकर अध्यात्मिक व आत्मिक शक्ति में इजाफा करने वाले धर्मनगर चैकड़ी प्रेमजी महाराज ने आज रात 9 बजे 9 मिनट तक 9 दीये जलाने के आह्नान को बेमिशाल बताया है। 
प्रेमजी महाराज ने माखन विजयवर्गीय एवं श्रीशः उपदण्डक मृत्यंजय जी महाराज की चर्चा का जिक्र करते हुए बताया है कि तंत्र में प्रदोष का बहुत महत्व है और 8 तारीख को आने वाले हनुमान जयंती अवसर के पूर्व 5 तारीख को मदन द्वादशी का प्रदोष काल अति महत्वपूर्ण काल है। उन्होंने बताया कि तंत्र मतानुसार प्रदोष काल में कोई अपने घर के सामने या छत पर चैमुखी दीपक सरसों के तेल से लगाए तो उस घर के आसपास संक्रमण समाप्त हो जाता है। अगर दीया चैमुखी न हो तो 9 दीपक लगाएं। 
प्रेमजी महाराज ने कहा कि यह सब जानकर हम आश्चर्य चकित रह गए कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हर क्षेत्र में आगे है। उन्हांेने कहा कि धन्य है हम ऐसा प्रधानमंत्री पाकर, जो आध्यात्म की पराकाष्ठा को छूता हो।