बड़े देशों की तुलना में कोरोना के 80% मरीज हो रहे हैं ठीक, राज्यों को दे रहे हैं 5 लाख रैपिड किट
शि.वा.ब्यूरो, नई दिल्ली। भारत समेत दुनिया के सभी देश कोरोना के खिलाफ एक लंबी लड़ाई लड़ रहे हैं। हमारे देश में इस दिशा में सफलता मिलती भी दिख रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव ने आज देश का हेल्थ बुलेटिन जारी करते हुए कहा कि अन्य बड़े देशों की तुलना में भारत में 80 प्रतिशत मरीज ठीक हो रहे हैं। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 1,007 नये मामले सामने आये और 23 लोगों की मौत हुई है।लव अग्रवाल ने कहा कि हमें हर मोर्चे पर कोरोना से लड़ना है, कोशिश की जा रही है कि इसकी वैक्सीन जल्द से तैयार हो। हमारे लिए एक भी मौत चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के मामलों में दूसरे देशों की तुलना में भारत की स्थिति बेहतर है। कोरोना के केसों के ग्रोथ फैक्टर में 40 फीसदी की कमी आई हैउन्होंने कहा कि कोरोना के मामले दोगुने होने की दर पिछले 7 दिनों में कम हुई है। इस बीमारी से 13.06 फीसदी लोग रिकवर हुए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि केंद्र की तरफ से राज्यों को पांच लाख रैपिट टेस्ट किट दिया जा रहा है। इस किट से महज 30 मिनट में रिपोर्ट आ जाएगी।

भारत में भी कोरोना वायरस का प्रकोप जारी है, जिसकी वजह से कोरोना से संक्रमित होने वालों की संख्या 13 हजार पार कर गई है। मगर पिछले दो दिनों में कोरोना के कहर में कमी देखने को मिली है। देश में खतरनाक कोरोना वायरस कोविड-19 महामारी से अब तक 437 लोगों की मौत हो चुकी है। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक,देश में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामलों की संख्या 13387 हो गई है,वहीं इससे 437 लोगों की मौत हो चुकी है।इस खतरनाक बीमारी से 1749 लोग ठीक भी हो चुके हैं। पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 1007 नए केस और 23 मौतें दर्ज की गई हैं,वहीं कल यानी गुरुवार को 22 मौतें हुई थीं। इस तरह से शुक्रवार को जारी नए आंकड़ों में गिरावट के रुझान देखने को मिल रहे हैं। कोरोना वायरस से सर्वाधिक 194 लोगों की मौत महाराष्ट्र में हुई। यहां अब इस महामारी से पीड़ितों की संख्या 3699 हो गई है।