उषा अर्घ्य के साथ हुआ महापर्व छठ पूजा का समापन

गौरव सिंघल, सहारनपुर। गंगोह रोड स्थित बड़ी नहर पर छठ पूजा सेवा समिति द्वारा आयोजित 4 दिवसीय छठ महापर्व का अंतिम और आखिरी दिन उषा अर्घ्य के साथ समापन हो गया। इस दिन उगते सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है। जिसके बाद छठ के व्रत का पारण किया जाता है। आज अंतिम दिन व्रतियों ने सूर्योदय से पहले नदी के घाट पर पहुंचकर उदित नारायण सूर्य को अर्घ्य दिया और सूर्य भगवान और छठी मैया से संतान की रक्षा और परिवार के सुख शांति की कामना की। पूजा के बाद व्रती महिलाओं ने कच्चे दूध, जल और प्रसाद से व्रत का पारण कर 4 दिन से व्रत का समापन किया। 

पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड के महत्वपूर्ण त्योहार छठ महापर्व का आज उगते सूर्य को अर्घ्य साथी समापन हो गया। व्रती महिलाओं ने भगवान दिनकर को अर्घ्य दिया। परिवार के सुख समृद्धि की कामना की। देश में शांति की प्रार्थना की। छठ महापर्व उत्तर प्रदेश और दिल्ली के अलावा विदेशों में भी देखने को मिल रहा है। सूर्योपासना का यह पर्व कार्तिक महीने के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी से सप्तमी तिथि तक मनाया जाता है। इस वर्ष छठ पर्व की शुरुआत शुक्रवार को स्नान यानी खाए- नहाए के साथ हुई। इसके बाद शनिवार को व्रतियों ने खरना का प्रसाद ग्रहण किया। खरना के दिन व्रत उपवास कर शाम को स्नान के बाद विधि विधान से रोटी और गुड़ से बनी खीर का प्रसाद ग्रहण किया जाता है। इसके साथ ही व्रती महिलाओं का दो दिवसीय निर्जला उपवास शुरू हो गया था। 

त्यौहार के बारे में जानकारी देते हुए छठ पूजा सेवा समिति के संयोजक ठाकुर रामाशंकर सिंह ने बताया कि छठ पूजा का अंतिम और आखिरी दिन उषा अर्घ्य होता है। इस दिन उगते सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है जिसके बाद छठ के व्रत का पारण किया जाता है। इस दिन व्रती महिलाएं सूर्योदय से पहले नदी के घाट पर पहुंचकर उदित नारायण सूर्य को अर्घ्य देती हैं और भगवान सूर्य और छठी मैया से संतान की रक्षा, परिवार की सुख शांति की कामना करती हैं। इसके बाद कच्चे दूध जल और प्रसाद से व्रत का पारण करती हैं। उन्होंने बड़ी नहर स्थित छठ घाट पर सफल आयोजन के लिए पुलिस-प्रशासन, नगर निगम, पत्रकार बंधुओं, स्थानीय लोगों का आभार व्यक्त किया। ठाकुर रामाशंकर सिंह ने कहा कि बिना इन सभी के सहयोग के त्योहार के सफल होने की कल्पना भी मुश्किल है। 

समिति के अध्यक्ष संतोष शाह निरहुआ, संरक्षक ठाकुर पवन सिंह, महामंत्री अनिल गिरी ने अपने संयुक्त बयान में शासन-प्रशासन के सहयोग के लिए आभार व्यक्त करते हुए कहा कि प्रशासन के सहयोग से इस त्यौहार को भव्य बनाने की और बेहतर करने की प्रेरणा मिली। उन्होंने सभी पूर्वांचल वासियों का इस महापर्व के सुखद शांतिपूर्ण और अनुशासनात्मक तरीके से संपन्न होने पर बधाई दी। घाट पर छठ पूजा सेवा समिति के उपाध्यक्ष सोनू सिंह, आयोजन समिति से राकेश राणा, बलराम सिंह, उदय सिंह, आनंद कुमार, हरशरण तिवारी, अर्जुन यादव, सनी राय, राकेश कुमार, रोहित बिष्ट, विजय यादव, संदीप यादव, प्रेम सिंह, संतोष शाह, संतोष चौहान, तनु शाह, विशालदीप, बृजेश सिंह, सावन यादव, सूरज गौड़, राजकुमार आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहे।